बीकानेर- ठेकेदार पर मेहरबानी बनी शहरवासियों के लिए आफत

खुलासा न्यूज़, बीकानेर। निगम प्रशासन द्वारा ठेकेदार पर मेहरबानी शहरवासियों के लिए आफत बन गई है। निगम प्रशासन की मिलीभगत साफ तौर पर नजर आ रही है कि जो ठेकेदार दो सालों से अधिकांश कार्य पूरे नहीं कर पा रहा है। उसको भुगतान भी दिया जा रहा है और कार्रवाई भी नहीं की जा रही है। ऐेसे में महापौर व निगम प्रशासन सरकार की छवि को खराब करने का प्रयास कर रहे हैं। निगम प्रशासन नियमानुसार कार्रवाई करने की बात कह रहा है लेकिन अब तक एक बार भी नोटिस जारी नहीं किया गया है। गत दिनों कांग्रेसी पार्षदों द्वारा आयुक्त का घेराव कर ठेकेदार के अधूरे पड़े कार्यों की जानकारी दी गई, तो आयुक्त ने कार्रवाई के आश्वासन की गोली दे दी परंतु अब तक ठेकेदार मनमर्जी कर रहा है। टेंडर प्रक्रिया में सबसे कम दर पर काम लेने वाले को ही कार्यादेश जारी होते हैं। यही कारण है कि उक्त ठेकेदार ने विगत दो सालों में शहरी क्षेत्र में सीवरेज के जोन वाईज कार्य न्यून दर पर ले लिए लेकिन एक भी कार्य को पूरा नहीं किया। आश्चर्य की बात यह है कि दो साल से एक भी कार्य पूरा नहीं करने पर निगम की ओर से कार्रवाई नहीं की गई है।

मिलीभगत का खेल, इसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा: नेता प्रतिपक्ष पडि़हार निगम में नेता प्रतिपक्ष जावेद पडि़हार ने कहा कि कम रेट में काम लेकर ठेकेदार पूरा नहीं कर रहा है। इससे विकास कार्य प्रभावित हो रहे हैं। निगम प्रशासन की मिलीभगत साफ तौर पर नजर आ रही है कि जो ठेकेदार दो सालों से अधिकांश कार्य पूरे नहीं कर पा रहा है। उसको भुगतान भी दिया जा रहा है और कार्रवाई भी नहीं की जा रही है। महापौर व निगम प्रशासन सरकार की छवि को खराब करने का प्रयास कर रहे हैं। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। नेता प्रतिपक्ष जावेद पडि़हार ने कहा कि कम रेट में काम लेकर ठेकेदार पूरा नहीं कर रहा है। इससे विकास कार्य प्रभावित हो रहे हैं। निगम प्रशासन की मिलीभगत साफ तौर पर नजर आ रही है कि जो ठेकेदार दो सालों से अधिकांश कार्य पूरे नहीं कर पा रहा है। उसको भुगतान भी दिया जा रहा है और कार्रवाई भी नहीं की जा रही है। महापौर व निगम प्रशासन सरकार की छवि को खराब करने का प्रयास कर रहे हैं। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

error: Content is protected !!