>

पूर्व प्रधान भाजपा नेता जयवीरसिंह भाटी ने लगाए गम्भीर आरोप
खुलासा न्यूज,बीकानेर।कोलायत कस्बे के गणमान्य नागरिकों एवं युवाओं के आग्रह पर पूर्व प्रधान भाजपा नेता जयवीरसिंह भाटी ने पवित्र कपिल सरोवर की बदहाल अवस्था एवं अवैध खनन हो रहे स्थानों का अवलोकन किया। जयवीरसिंह भाटी ने कहा कि वर्ष 2017 में पूर्व मंत्री देवीसिंह भाटी के मार्गदर्शन में हमने बड़ी मेहनत और शिद्दत से जनसहयोग लेकर सरोवर को साफ करवाया था, टेचरी फांटा से वर्षाती जलमार्गों को भी जो अवरुद्ध थे साफ करवाया, महाराज गंगासिंह जी के रियासतकालीन समय में बनाए फाटकों की मरम्मत करवाई आदि किन्तु मॉनिटरिंग नहीं होने के कारण, प्रशासनिक एवं राज की उदासीनता के चलते आज सरोवर में कमल बेल एवं जलीय वनस्पति पूरी तरह फैल चुकी है। वहीं दूसरी तरफ पिछले चार पांच सालों में कोलायत में हुए अवैध खनन को लेकर राजस्व तहसील, उपखण्ड अधिकारी कार्यालय, खनन विभाग, पुलिस वृत्ताधिकारी कार्यालय एवं पुलिस थाना की भूमिका पर सवालिया निशान लगाते हुए उच्च शिक्षा मंत्री भंवरसिंह भाटी एवं केंद्रीय राज्य मंत्री अर्जुनराम मेघवाल पर मिलीभगती का आरोप लगाया है और सरोवर एवं अवैध खनन से बदहाल हुए कोलायत का जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि मंत्री भाटी एवं मंत्री मेघवाल दोनों सैद्धान्तिक राजनीति के बजाय सांठगांठ से चलने वाले लोग हैं, इन दोनों की टीम एक कॉमन कार्यकर्ता है इन्हें भाजपा या काँग्रेस से या जनता से कोई मतलब नहीं है इन्हें सिर्फ और सिर्फ सत्ता से मतलब है जो गलत तरीकों से भी प्राप्त हो तो भी इनकी आपसी सहमति है। जयवीरसिंह का फिर कहना था कि पूर्व मंत्री देवीसिंह भाटी जब विधायक थे तो जनता के काम प्राथमिकता से होते थे, प्रशासनिक अधिकारियों को हठधर्मिता करने या दुर्व्यवहार करने की छूट नहीं थी,आज हालात यह है कि अधिकारी जनप्रतिनिधियों की बजाय सरकार चला रहे है। आज खुल्लेआम कोलायत में भृष्टाचार अपनी चरम सीमा पर है सभी सरकारी विभाग गैर जिम्मेदार हो चले हैं।पवित्र कपिल सरोवर एवं अवैध खनन के स्थानों के अवलोकन के दौरान पूर्व प्रधान भाटी के साथ पूर्व जिलाध्यक्ष भाजपा आईटी सेल डूंगरसिंह तेहनदेसर, पूर्व जिला उपाध्यक्ष भाजपा मंगेजसिंह हाड़ला, व्यापार मण्डल के पूर्व अध्यक्ष गणेशमल पंचारिया, युवा उद्यमी सुमेरसिंह भाटी, क्षत्रिय सभा अध्यक्ष युद्धवीरसिंह भाटी, आरटीआई एक्टिविस्ट दिलीपसिंह राजपुरोहित, चेनसिंह राजपुरोहित, पूर्व छात्रसंघ उपाध्यक्ष कन्हैयालाल उपाध्याय, योगेश सेवग एवं मुकेश पाइवाल सहित बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक एवं युवा शामिल रहे।