बीकानेर केन्द्रीय कारागार में मिले मोबाइल फोन

बीकानेर। केन्द्रीय कारागर में बैठे खूंखार बदमाश अंदर से ही अपनी गैंग को संचालित करते रहते है उसके लिए उनके पास मोबाइल फोन व अन्य सुख सुविधा उपलब्ध है। जबकि जेल प्रशासन लाख कोशिश कर चुका है कि जेल में मोबाइल का प्रयोग किसी भी कैदी के पास ना होना चाहिए लेकिन सभी नियमों व कानून को धत्ता बताते हुए मोबाइल फोन अंदर जाते है और बदमाश अंदर बैठे ही लोगों से फिरौती की मांग करते है और ना देने पर जान से मारने की धमकी देते रहते है। लेकिन इन दिनों इस प्रकार के मामले दिनों-दिन सामने आ रहे है, ऐसे में जेल प्रशासन पर सवालिया-निशान लगता है कि आखिर जेल में बंद कैदियों के पास मोबाइल कैसे पहुंच जाता है? मजे की बात तो यह है कि जेल में आए दिन इस प्रकार की वारदात होने के बावजूद भी जेल प्रशासन कोई ठोस कार्रवाई नहीं कर पा रहा है, ऐसे में जेल में बैठे कैदी फोन के माध्यम से लोगों को जान-माल की धमकियां दे रहे है।बता दें कि केन्द्रीय कारागार के वार्ड संख्या 11 के बैरिक संख्या 42 के पीछे चैकिंग के दौरान दो मोबाइल फोन व दो बैट्री मिली है। ऐसे में जेल अधीक्षक ने अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp