कुंवारे हो जाए सावधान: सात लाख में खरीदी दुल्हन, 15 दिन बाद कर दिया कांड - Khulasa Online

कुंवारे हो जाए सावधान: सात लाख में खरीदी दुल्हन, 15 दिन बाद कर दिया कांड

भरतपूर. भरतपुर जिले के बयाना उपखंड में कुंवारे लोगों को झांसे में लेकर नगदी जेवरात लूटकर ले जाने वाली लुटेरी दुल्हनों का गैंग लगातार सक्रिय बना हुआ है। लुटेरी दुल्हनों का ताजा मामला अब बयाना पुलिस सर्किल के गढ़ी बाजना थाना इलाके के गांव बैसोरा में सामने आया है। जहां शादी के नाम पर फिर से धोखाधड़ी हुई है। 7 लाख लेकर शादी करने वाली लुटेरी दुल्हन बहनें अपनी गैंग के साथ शादी के 16 दिन बाद ही लाखों के जेवरात और 20 हजार की नकदी लेकर घर से चंपत हो गई। पीड़ित दूल्हे भाइयों ने जब इस बारे में शादी कराने वाले बिचौलिए से बात की तो उसने 2 लाख रुपयों की और डिमांड कर दी। डेढ़ माह से परेशान दूल्हे ने अब आखिरकार कानून की शरण ली है। पीड़ित दूल्हे ने अब लुटेरी दुल्हनों, उसके भाइयों और शादी कराने वाले बिचौलियों के खिलाफ कोर्ट में इस्तगासा दायर किया हैण् कोर्ट ने गढ़ीबाजना थाने को मामले में एफआइआर दर्ज करने के निर्देश दिए हैंण् 7 लाख लेकर की शादी गढ़ी बाजना थाना इलाके के गांव बैसोरा के रहने वाले राजेश कुमार शर्मा ने बताया कि वह और उसका छोटा भाई रामेश्वर दोनों प्राइवेट नौकरी करते हैंण् उनके पिता का देहांत हो चुका है। घर पर केवल विधवा मां कमलेश उर्फ कमला है। राजेश ने बताया कि जनवरी 2022 में अतीपुरा करौली निवासी भरत शर्मा, सोहां धौलपुर निवासी मनोज और औड़ेला रूपवास निवासी शिवराम दुबे उर्फ भगत उसके घर आए थे। उन्होंने उसकी मां कमलेश से कहा कि वे उसके दोनों बेटों राजेश और रामेश्वर की शादी फिरोजाबाद यूपी के रहने वाले उनके किसी परिचित की दोनों बेटियों से करा देंगे, लेकिन इसके लिए 7 लाख देने होंगे। राजेश ने बताया कि उसकी मां बिचौलियों के झांसे में आ गई और उसने हामी भर लीण् इसके बाद उन्होंने जैसे.तैसे कर्जा लेकर 7 लाख रुपये का इंतजाम कियाण् इसके बाद 17 फरवरी को तीनों बिचौलिए प्रीति और चांदनी नाम की दो लड़कियोंए उनके भाइयों कुलदीप और नारायण और उनके पिता के साथ गांव बैसोरा आ गए। जहां उनके घर पर शादी की सभी रस्में हुईण् अगले दिन तीनों बिचौलिए 7 लाख की रकम लेकर और दोनों लड़कियों को छोड़कर वापस चले गए। मौका देख गैंग के सदस्यों को बुलाया और नगदी जेवरात ले भागीं राजेश ने बताया कि शादी के 5 दिन बाद ही वह और उसका भाई अपनी प्राइवेट नौकरियों पर नोएडा चले गए। गत 5 मार्च को बिचौलिए और लड़कियों के भाई उनके घर आए। उस वक्त घर पर केवल प्रीति और चांदनी ही मौजूद थी। उनकी मां कमलेश खेतों में काम करने गई हुई थी। पीछे से दोनों दुल्हनें प्रीति और चांदनी घर में रखी हुए सोने की दो चेन, दो अंगूठी, दो सैट कानों की झुमकियां, 8 चूड़ियां, दो मंगलसूत्रए नथी का और चांदी की पायल और कमर कौन में समेत 20 हजार की नगदी और दो सूटकेस महंगे कपड़े लेकर बिना बताए चली गईण् शाम को मां कमलेश घर लौटी तो दोनों दुल्हनों को नहीं पाकर आसपास तलाश किया। कोई सुराग नहीं लगने पर बेटे राजेश को नोएडा फ ोन कर सूचना की। इसके बाद राजेश्वर उसका भाई रामेश्वर गांव आए और उन्होंने शादी कराने वाले बिचौलिये भरत को फोन किया। बिचौलिए ने साफ कह दिया कि 2 लाख और देने पर ही दोनों दुल्हनें वापस आएंगी।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp