आवासियों के लिये पीड़ादायी बनी अंसल कॉलोनी - Khulasa Online

आवासियों के लिये पीड़ादायी बनी अंसल कॉलोनी

मेंटनेंस नाम की चीज ही नहीं फिर भी दुगुना कर दिया मेंटेनेंस शुल्क बीकानेर। राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित महाराज गंगासिंह विवि के पास बनी अंसल कॉलोनी अब आवासियों के लिये पीड़ादायी बन गई है। लाखों रूपये खर्च कर कॉलोनी में मकान खरीदने वाले लोगों का कहना है कि बीहड़ में तब्दील हुई इस कॉलोनी में पेयजल सप्लाई के भी पुख्ता बंदोबश्त नहीं है,इसलिये लोगों को टैंकर से पानी डलवाना पड़ता है। सीवरेज की बाट जोह रहे कॉलोनी के लोगों ने बताया कि असंल सुशांत सिटी ग्रुप की ओर से बसाई गई इस कॉलोनी में मेन्टेनेंस का जिम्मा स्टार फेसिलिटी मैनेजमेंट लिमिटेड को सौंप रखा है,जबकि हकीकत यह है कि कॉलोनी में मेंटेनेंस तो दूर मूलभूत सुविधाओं का भी अभाव बना हुआ है। इतना ही नहीं मेंटेनेंस के नाम पर कॉलोनी के आवासीयों से भुगतान लिया जा रहा है,जो अब मनमानें ढंग से दुगुना कर दिया गया, भुगतान नहीं करने वाले आंवटियों को नोटिस भेजे जा रहे है।इससे कॉलोनी के लोगों में आक्रोश की लहर व्याप्त है और उन्होने कानूनी कार्यवाही आव्हान किया। कॉलोनी निवासी मनमोहन चांडक,राजू देवी,कुसुम,गिरिराज कुमार और बृज मोहन समेत अनेक जनों ने बताया कि असंल कॉलोनी में ना तो पेयजल के पुख्ता बंदोबश्त और ना ही सिवरेज तथा सफाई की व्यवस्था सुचारू है। सुरक्षा बंदोबश्त के अभाव में इस आवासीय कॉलोनी में संदिग्ध लोग भी आये दिन घुमते है,अवैध शराब बनाने की फैक्ट्री भी इस कॉलोनी में पकड़ी जा चुकी है। चोरी और नकबजनी की वारदातों से लोग आश्ंाकित है। कॉलोनी बसावट के समय नजर आने वाली हरियाली भी देखभाल के अभाव में उजाड़ हो गई। पेड़-पौधों की जगह कंटीली झाडिय़ा उग आई। आवारा मवेशियों ने कॉलोनी को अपनी शरणागाह बना लिया है। ऐसे में मेंटेनेंस कपंनी की ओर से मनमाने ढंग से मेंटनेंस में बढोतरी कर कॉलोनी वासियों को नाजायज तरीक से परेशान किया जा रहा है,जिसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा था फिलहाल कंपनी प्रबंधन को नोटिस भेजे गये अगले चरण में कानूनी कार्यवाही की जायेगी। दिखाते है स्वप्नबाग जिस समय कोई व्यक्ति यहां मकान या फ्लेट खरीदने इनके स्थानीय ऑफिस जाता है तो उसे बड़े बड़े दावे किये जाते है और केटलॉक दिखाकर आंवटी को स्वप्नबाग दिखाया जाता है। जिससे आंवटी झांसे में आ जाए और आवंटी मकान खरीदने को मजबूर हो जाएं। कि न्तु हकीकत वास्तविकता से परे है।
error: Content is protected !!
Join Whatsapp 26