कोरोना के कहर से निजात पाने के बाद अब ऑटोमोबाइल सेक्टर को इस साल दिपावली त्यौहारी सीजन से बड़ी उम्मीद

बीकानेर। । कोरोना के कहर से ऑटोमोबाइल सेक्टर भी अछूता नहीं रहा है, लगातार 2 साल तक कोरोना के असर के कारण ऑटोमोबाइल सेक्टर प्रभावित रहा है, लेकिन इस बार त्योहारी सीजन शुरू होने से पहले कोरोना कंट्रोल में है, ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि इस साल के त्योहारी सीजन में ऑटोमोबाइल सेक्टर में बिक्री अच्छी रहेगी देशभर में कोरोना के प्रभाव के कारण हर सेक्टर इससे प्रभावित रहा है, ऑटोमोबाइल सेक्टर भी कोरोना के व्यापक असर से खासा प्रभावित हुआ है, कोरोना के कारण देश भर के ऑटोमोबाइल सेक्टर से जुड़े व्यापारियों को खासा नुकसान उठाना पड़ा है, लेकिन इस बार त्योहारी सीजन से पहले राजस्थान समेत देशभर में कोरोना की स्थिति कंट्रोल में है, रिकॉर्ड वैक्सीनेशन के कारण भी कोरोना का डर और असर लोगों के बीच से अब खात्मे की ओर है, इसी वजह से यह उम्मीद जताई जा रही है कि इस बार त्योहारी सीजन में सिर्फ ऑटोमोबाइल सेक्टर ही नहीं बल्कि हर तरह के सेक्टर में बूम आएगा और रिकॉर्ड खरीदारी होगी, कोरोना के कारण लोगों ने सार्वजनिक वाहनों से दूरी बनाकर अपने वाहन से ही यात्रा करने पर फोकस किया है इसलिए भी यह उम्मीद है कि इस बार के त्यौहार ही सीजन में वाहनों की रिकॉर्ड खरीदारी होगी, त्योहारी सीजन के शुरू होते ही ऑटोमोबाइल सेक्टर से जुड़े व्यापारियों ने भी तैयारियां शुरू कर दी हैं, अधिक से अधिक वाहनों की बिक्री हो सके इसके लिए कई तरह के ऑफर भी लोगों को दिए जा रहे हैं, फोटो मोबाइल व्यापार से जुड़े लोगों ने बताया कि त्योहारी सीजन के लिए सरकार की ओर से इलेक्ट्रिकल व्हीकलों को अनुदान राशि दिए जाने के बाद से प्रदेश में इलेक्ट्रिकल व्हीकलों की बिक्री भी काफी बढ़ी है, ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि इस बार के त्योहारी सीजन में प्रदेश में इलेक्ट्रिकल वाहनों की भी रिकॉर्ड बिक्री हो सकती है, पेट्रोल और डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों के कारण भी लोगों का फोकस अब इलेक्ट्रिकल व्हीकलों की तरफ ज्यादा है, मौज़ूदा वर्ष के सितंबर महीने के आंकड़े ऑटोमोबाइल सेक्टर के लिए बहुत अच्छे नहीं रहे हैं पिछले वर्ष के सितंबर महीने के मुकाबले इस वर्ष सितंबर में देशभर में वाहनों की बिक्री कम हुई है,, लेकिन इसके बाद भी ऑटोमोबाइल सेक्टर को त्योहारी सीजन से बहुत उम्मीदें हैं, सिर्फ गांवों में ही नहीं बल्कि बड़े शहरों में भी नवरात्र दशहरा और दीपावली पर नई गाड़ी लेने की परंपरा है जो लंबे समय से चली आ रही है, पिछले वर्ष भी त्योहारी सीजन आते-आते कोरोना का प्रभाव काफी कम हुआ था जिस कारण त्योहारी सीजन पर प्रदेशभर में वाहनों की अच्छी बिक्री दर्ज की गई थी, त्योहारी सीजन पर वाहनों की अच्छी बिक्री के ट्रेन के चलते ही उम्मीद की जा रही है इस बार भी राजस्थान में वाहनों की अच्छी खरीद होगी जिससे ऑटोमोबाइल सेक्टर से जुड़े लोगों को बड़ा फायदा होने की उम्मीद है, आंकड़ों से साफ है कि कोरोना की वजह से पिछले साल यानी 2020 में प्रदेश भर में वाहनों की बिक्री में 2019 के मुकाबले काफी कमी दर्ज की गई थी, लेकिन इस बार वैक्सीनेशन की वजह से कोरोना का डर लोगों के बीच से खत्म हो गया है,, साथ ही सार्वजनिक परिवहन से दूरी बनाने की वजह से अधिकतर लोग खुद का वाहन लेने पर ध्यान दे रहे हैं, इसलिए यह उम्मीद की जा रही है कि इस बार के त्योहारी सीजन में प्रदेश में वाहनों की बिक्री 2019 के आंकड़े को पार कर सकती है.

error: Content is protected !!
Join Whatsapp