बीकानेर में करीब 1 करोड़ चोरी मामला : एसपी प्रीति ने किया मौका मुआयना, एएसआई को किया लाइन हाजिर

खुलासा न्यूज, बीकानेर। बीकानेर में एक करोड़ चोरी मामले में आज एसपी प्रीति चन्द्रा ने मौका मुआयना किया है। साथ ही डीओ ड्यूटी पर तैना एएसआई को लाइन हाजिर किया है। मिली जानकारी के अनुसार लापरवाही बरतने पर एएसआई सुमन यादव को लाइन हाजिर किया है। एसपी ने कहा कि टीमें बनाई गई है, सर्च करवा रहे है।

पुलिस घटना स्थल पर, चोरी पिछली गली में

जिस समय पुलिस ओझा के घर पर थी, उस समय तीन बजे थे और साढ़े तीन बजे की फुटेज में चोर पिछली गली में ही एक बाड़े में नजर आ रहे थे। यानी उस समय पुलिस और चोरों के बीच बहुत कम दूरी थी। पुलिस ने इसे सामान्य चोरी मानते हुए हर बार की तरह "सुबह आना" कहकर चली गई। उसी समय ओझा ने नाकेबंदी का आग्रह किया, जिसे मान लेते या फिर आसपास चक्कर भी काट लेती तो कोई पकड़ में आ सकता था। इसी लापरवाही का नतीजा है कि चोर हाथ से निकल गए।

घर में भी लापरवाही

ऐसा नहीं है कि अकेले पुलिस ने घटना के बाद लापरवाही की, बल्कि ओझा के घर में भी घोर लापरवाही बरती गई। थानाधिकारी गोविन्द सिंह ने बताया कि इतनी बड़ी मात्रा में सोने चांदी के आभूषण घर में नहीं रखने चाहिए। अगर किसी कारण से रखे गए हैं तो उस कमरे में ही रात को सोना चाहिए। जहां चोरी हुई है, वहां कोई नहीं सो रहा था। यहां तक कि उस अलमारी में भी सुरक्षा प्रबंध नहीं थे, जहां ये कीमती सामान रखा गया था। उस कमरे के ताला होना चाहिए था। अगर ताला तोड़ने का प्रयास होता तो घर वाले जाग जाते। जिस रसोई से चोर अंदर घुसे उसकी खिड़की या तो बंद थी या फिर इतने कमजोर तरीके से बंद थी कि चोरों ने आसानी से खोल ली और किसी को भनक तक न लगी।

एमपी या यूपी की गैंग

आशंका जताई जा रही है कि ये गैंग मध्यप्रदेश य फिर उत्तरप्रदेश की नजर आ रही है। पुलिस ने सभी छह चोरों के हुलिये के आधार पर ऐसी आशंका जताई है। सभी छह युवक पतले हैं और कद काठी से उत्तरप्रदेश के नजर आ रहे हैं। इसी आधार पर कई युवकों से छानबीन भी की गई है।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp