अब क्या होगा पेमाराम के पोते का

बीकानेर। अपने पोते के दिल का ऑपरेशन के लिए एक व्यक्ति ने इलाज के लिए एक लाख रुपये एडवांस लिये। लेकिन कहते है होनी का क्या मंजूर है ये किसी को पता नहीं होता है। ऐसा ही कुछ झझू निवासी पेमाराम के साथ हुआ। कुछ दिनों बाद जयपुर में पेमाराम के पोते के दिल का ऑपरेशन था। इसके लिए झझू के पेमाराम ने ईंट भट्टे से एडवांस के रूप में एक लाख रुपए लिए थे। जिससे पोते के दिल में सुराग का ऑपरेशन करवाकर उसे नई जिन्दगी दे सके, लेकिन बुधवार को सुबह घर में लगी आग ने पेमाराम व उसके परिवार के लिए परेशानी खड़ी कर दी। आग में ऑपरेशन की राशि के अलावा सोने-चांदी के आभूषण, घरेलू सामान, 5 बोरी गेहूं, 3 क्विंटल मोठ, 3 क्विंटल ग्वार, मूंग आदि जलकर नष्ट हो गए। पीडित पेमाराम ने बताया कि मंगलवार रात को वह झझू में स्थित अपने घर में परिवार के साथ सो रहा था। बुधवार अलसुबह झोपड़ी जलने लगी। इस पर परिवार समेत खुद को सुरक्षित बाहर निकाला तथा आग बुझाने का प्रयास करने लगे। आग देख पड़ोसी भी आग बुझाने लगे लेकिन सभी सामान जल गया। झझू सरपंच मूलचंद सेवग, नायक भील युवा विकास समिति अध्यक्ष घमूराम नायक, चेनाराम, बाबूलाल, शंकरलाल, राहुल शर्मा आदि ने प्रशासन से उचित मुआवजे की मांग की है। हेड कांस्टेबल श्रवणराम बिश्नोई, दौलतराम नाई ने मौका मुआयना किया।
error: Content is protected !!