>



खुलासा न्यूज,बीकानेर। शहर के मुक्ताप्रसाद क्षेत्र में पिछले कुछ समय से मुख्य मार्ग पर शराब ठेके के विरोध में चल रहे आंदोलन ने तूल पकड़ लिया है। इसको लेकर आज फिर शराब ठेकेदार ने दुकान खोलने की कोशिश की मगर इसकी भनक क्षेत्र की महिलाओं को लगी तो एकजुट होकर दुकान के शट्टर को डाउन करवाया गया। ऐसे में हंगामा शुरू हो गया। जिसकी सूचना मिलने पर मौके पर पुलिस पहुंची और शराब ठेके को ताला तलवाकर मामले को शांत किया। हालांकि इसको लेकर क्षेत्र की महिलाओं व पुरुषों ने शराब ठेके के बाहर विरोध प्रदर्शन कर आबकारी विभाग व पुलिस विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान पार्षद जितेन्द्र सिंह भाटी, शहर भाजपा जिला मंत्री कौशल शर्मा व समाजसेवी सरोज आदि मौजूद रहे। गौरतलब है कि इस शराब के ठेके के विरोध को लेकर आबकारी विभाग ने ठेकेदार को शराब ठेका स्थानान्तरण को लेकर तीन बार नोटिस भी भेजा है। इसके बावजूद भी शराब ठेका संचालित है।
ठेकेदार की मनमानी
पार्षद जितेन्द्र सिंह भाटी ने बताया कि पिछले एक माह पूर्व सरोज कंवर के नाम दुकान आंवटित की गई। जिस दिन से यहां शराब की दुकान खुली उसी दिन से ही क्षेत्र की महिलाओं व पुरुषों का विरोध चल रहा है। इसको लेकर जिला कलक्टर, जिला पुलिस अधीक्षक, आबकारी विभाग अधिकारी से मुलाकात कर शराब ठेके के बारे में अवगत कराया जा चुका है लेकिन इसके बाद भी अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। हालांकि आबकारी विभाग की ओर से दुकान स्थानान्तरण को लेकर तीन बाद नोटिस भी दिया जा चुका है। भाटी ने कहा कि जब तक इस ठेके को स्थानान्तरित नहीं किया जाएगा तब तक आंदोलन जारी रहेगा।
नोटिस के बाद भी संचालित है दुकान
शहर भाजपा जिला मंत्री कौशल शर्मा व समाजसेवी सरोज ने बताया कि मुक्ताप्रसाद क्षेत्र में दुकान आंवटित होने के बाद से महिलाओं का विरोध शुरू हो चुका है। समाजसेवी ने बताया कि उस दिन से आज तक इस दुकान को खुलने नहीं दिया गया है लेकिन इसके बाद भी गत 28 अपे्रल को दुकान खोली गई व आज सुबह पुलिस की सांठ गांठ से जबरन शट्टर खोलने की कोशिश की। जिस पर महिलाओं ने विरोध कर उसे बंद करवाया। इस क्षेत्र में शराब ठेका खुलने से असामाजिक तत्वों का लगातार रहेगा जो महिलाओं की सुरक्षा को लेकर खतरा बना रहेगा।