बीकानेर में एक नानी ने अपनी ही नवजात दोहिती को उतार डाला मौत के घाट - Khulasa Online बीकानेर में एक नानी ने अपनी ही नवजात दोहिती को उतार डाला मौत के घाट - Khulasa Online

बीकानेर में एक नानी ने अपनी ही नवजात दोहिती को उतार डाला मौत के घाट

बीकानेर। नवरात्र में जहां चारों ओर कन्या पूजन के आयोजन हो रहे है वहीं एक कन्या की हत्या की कुत्सित घटना क्षेत्र में उजागर हुईहै। प्रथम नवरात्र के दिन बच्ची का जन्म हुआ और गोद मे कार्तिकेय को लेकर विराजित माता स्कंदमाता के पूजन के दिन पांचवे नवरात्रको पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। लोकलाज से बचने के लिए एक परिवार ने नवजात बच्ची को नहर में फेंक कर उसकीहत्या उसी की नानी सहित चाचा व समधी ने कर दी। आरोपी नानी सहित दो अन्य को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पहले नवरात्र15 अक्टूबर को बच्ची का जन्म हुआ और पुलिस ने 20 अक्टूबर छठे नवरात्र ओर हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर लिया। जामसर थानाइलाके में नहर में मिले नवजात बच्ची के शव के मामले में पुलिस ने आरोपियों की तलाश बच्ची के शव पर मिले टैग और सीसीटीवीकी मदद से कर ली है। पुलिस अधीक्षक तेजस्वनी गौतम ने बताया कि प्रसूता की मां राधा देवी पत्नी राजूराम गवारिया निवासी खारीहाल निवासी सांवतसर, प्रसूता के चाचा काशीराम व समधी गांव बिग्गा निवासी सुरेश कुमार गवारिया को गिरफ्तार किया। आरोपियों को आज कोर्ट में पेश किया जाएगा। एसएचओ इंद्र कुमार ने बताया कि बच्ची के शव पर लगे टैग के आधार पर पुलिस ने परिजनों कीतलाश शुरू की। टैग पर प्रसूता व उसके पति का नाम लिखा था। आरोपी पीबीएम अस्पताल से प्रसूता की फाइल भी लेकर चले गए।फिर भी पुलिस ने टैग के सहारे व सीसीटीवी फुटेज की मदद से तलाश जारी रखी। तब पुलिस को खारी निवासी एक व्यक्ति के नम्बरमिले। पुलिस ने खारी पहुंच कर पड़ताल की तो पता चला गांव सांवतसर रहने का पता चला। पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो आरोपीने राज उगल दिए।
प्रसूता को बताया बच्ची मर गई..
एसएचओ के मुताबिक पीडि़ता से पूछताछ में उसने बताया कि वह बेहोश थी। गांव आने के काफी देर बाद होश आया। तब बच्ची केबारे में पूछने पर उसे बताया कि वह मर गयी है। पुलिस से ही पीडि़ता को पूरे घटनाक्रम का पता चला कि बच्ची मरी नहीं थी बल्किउसकी हत्या कर दी गयी है।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp 26