बीकानेर के एक कांस्टेबल ने दिखाई धौंस, एसएचओ से की अभद्रता - Khulasa Online

बीकानेर के एक कांस्टेबल ने दिखाई धौंस, एसएचओ से की अभद्रता

पलसाना। एक व्यक्ति ने खुद को आईबी अधिकारी बताकर रानोली थाने से कार्रवाई के लिए जाब्ता मंगवा लिया। पुलिसकर्मी जब मौके पर पहुंचे, तो वहां मामला आपसी रंजिशवश झगड़े का निकला। खुद को आईबी अधिकारी बताने वाले की जांच पड़ताल की, तो वह कांस्टेबल निकला, जो अभी बीकानेर में कार्यरत है। उसे थाने लेकर आए, तो वह थाने में एसएचओ से ही हाथापाई पर उतर आया। बाद में पुलिस ने उसे शांतिभंग में गिरफ्तार किया है। रानोली थानाधिकारी कैलाशचंद यादव ने बताया कि पलसाना में पास- पास में दो लोगों के पेट्रोल पंप हैं। इनमें कारोबार के चलते आपसी रंजिश रहती है। मंगलवार को भी दोनों पेट्रोल पंप संचालकों में किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया। इस मामले को लेकर महावीर प्रसाद मंगलवार को रानोली थाने आया तथा खुद को आईबी की स्पेशल शाखा में बताते हुए किसी बड़ी कार्रवाई करने के लिए जाब्ता भेजने को कहा। इस पर रानोली थाने से पुलिसकर्मियों का जाब्ता उसके साथ भेज दिया गया। पलसाना आने पर पुलिस को मामला डीजल बिक्री का निकला। इस पर पुलिस उसे लेकर थाने आ गई। यहां महावीर प्रसाद ने पुलिसकर्मियों को ही धमकाया। इस पर पुलिस ने उसे दो भाइयों के साथ शांतिभंग में गिरफ्तार कर लिया। बीकानेर में है पदस्थापित रानोली पुलिस के अनुसार आरोपी कांस्टेबल महावीर प्रसाद बीकानेर डीएसपी ब्रांच में कार्यरत हैं। उसके भाई का पलसाना में पेट्रोल पंप है। उसके पास ही पड़ोसी का पंप है। इसको लेकर उनमें आए दिन विवाद होता रहता है। पुलिस मौके पर पहुंची तो पता चला कि महावीर प्रसाद छुट्टी आया हुआ था। थाने में भी धौंस, एसएचओ से अभद्रता पुलिस के अनुसार आरोपी कांस्टेबल महावीर प्रसाद ने न केवल झूठ बोलकर पुलिस को गुमराह किया, वरन हेकड़ी दिखाता रहा। वह मौके पर पुलिस के सामने ही पेट्रोल पंप संचालक को धमकाने लगा। इस पर पुलिस उसे रानोली थाने ले आई। यहां आकर भी उसने पुलिसकर्मियों को धमकाया तथा थानाधिकारी से भी कथित रूप से अभ्रदता की। इस पर उसे तथा उसके दो भाइयों को गिरफ्तार कर लिया गया। थाने पर जमा हुए दोनों पक्षों के लोग दूसरे पक्ष के अवैध डीजल ब्रिकी की शिकायत के बाद उनके खिलाफ कार्रवाई करने की बजाय पुलिस की ओर से शिकायत करने वाले लोगों को ही शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार करने से शिकायत करने वाले पक्ष की ओर से काफी लोग थाने पहुंच गए। उन्होंने शिकायत पर कार्रवाई करने के बजाय शिकायत कर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई करने का आरोप लगाया। बाद में दोनों पक्षों के लोग ही थाने पहुंच गए और मामले को मिल बैठकर सुनझाने का प्रयास करते रहे। इससे दिनभर थाने के सामने दोनों पक्ष के लोगों का जमावड़ा रहा। बाद में शाम को पूर्व विधायक अमराराम भी थाने पहुंचे और थानाधिकारी कैलाशचन्द यादव से अवैध डीजल मामले में कार्रवाई को कहा तो पुलिस ने जिला रसद कार्यालय से टीम बुलाकर शिकायत पर जांच की करवाई भी करवाई है।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp