बीकानेर/ BJP नेता के बेटे ने सुसाइड किया - Khulasa Online

बीकानेर/ BJP नेता के बेटे ने सुसाइड किया

खुलासा न्यूज, बीकानेर संभाग। फाइनेंसर से परेशान श्रीगंगानगर के भाजपा नेता के बेटे ने मंगलवार दोपहर फांसी लगाकर जान दे दी। व्यापार में लगाने के लिए उसने करीब छह लाख रुपए उधार लिए थे। इसके एवज में फाइनेंसर ने युवक से खाली चेक ले रखे थे। चेक पर उसकी पत्नी के हस्ताक्षर थे। फाइनेंसर प्रतिदिन का बड़ा ब्याज जोड़ता गया और पिछले छह माह में ही करीब 18 लाख रुपए वूसल लिए। इसके बावजूद फाइनेंसर बकाया बताते हुए उसे धमकियां दे रहा था। उधर, आरोपी की गिरफ्तारी की मांग करते हुए परिजन और रिश्तेदार CHC पदमपुर में ही धरने पर बैठ गए। ये है मामला भाजपा नगर मंडल के पूर्व अध्यक्ष विजय खुराना के बेटे दीपक खुराना उर्फ मिनी ने कस्बे के फाइनेंसर इंद्र आहूजा उर्फ बट्‌ठल से करीब 7 माह पहले छह लाख रुपए उधार लिए थे। उधार देने से पहले बट्‌ठल ने दीपक से कुछ खाली चेक पर हस्ताक्षर कराए थे। इसमें दीपक की पत्नी के नाम के भी चेक थे। फाइनेंसर इस पर 5-10% प्रतिदिन की दर से ब्याज लगा रहा था। यानी यदि किसी ने एक हजार रुपए उधार लिए तो उसे 50 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से ब्याज देना होता था। मिनी ने इस फाइनेंसर से छह लाख रुपए उधार लिए थे। इस हिसाब से बड़ी राशि प्रतिदिन ब्याज की ही बन रही थी। जानकारी के मुताबिक, फाइंनेंसर उससे उधार के पैसों का ब्याज सहित 60-65 लाख रुपए मांग रहा था।

18 लाख चुकाए, फिर भी करता रहा परेशान दीपक ने उधार लिए छह लाख रुपए के एवज में अब तक करीब 18 लाख रुपए चुका दिए थे। फाइनेंसर फिर भी और रकम की मांग कर रहा था। दीपक ने परिवार के सदस्यों को यह बात बताई थी। परिवार के लोगों ने बैठकर बात की और बट्‌ठल को एकमुश्त 20 लाख रुपए देने की बात तय हुई। फाइनेंसर एक बार तो मान गया। फिर वह दीपक को रुपए देने के लिए परेशान करने लगा।

परेशान होकर दीपक ने दी जान परेशान दीपक को फाइनेंसर से पीछा छुड़ाने का रास्ता नजर नहीं आया। मंगलवार सुबह करीब ग्यारह बजे वह कस्बे के अनारकली बाजार स्थित अपनी दुकान आया। कर्मचारी को फलेक्स बनवाने के बहाने बाहर भेज दिया। पीछे से दीपक दुकान की प्रथम मंजिल पर गया और उसने छत में लगे कुंडे से फंदा लगाकर जान दे दी।

पिता बोले- 20 लाख देना तय हुआ फिर भी धमकी दीपक के पिता विजय खुराना ने बताया कि फाइनेंसर के परेशान करने की बात जब उनकी जानकारी में आई तो पंचायत की। इसमें 20 लाख रुपए फाइनल पेमेंट के रूप में देने की बात हुई थी। फाइनेंसर ने दीपक को फिर से परेशान करना शुरू कर दिया। इस बार उसने दीपक की पत्नी के नाम के चेक बैंक में प्रस्तुत कर फंसाने की धमकी दी।

पुलिस ने कमरा किया सील दीपक ने जिस कमरे में आत्महत्या की उसे सील कर दिया गया है। अभी पुलिस परिजनों से जानकारी जुटा रही है। उसके बाद कमरे में सुसाइड नोट के बारे में पता किया जाएगा। दीपक का विवाह कुछ समय पूर्व हुआ था। एक माह की एक बेटी है।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp