बीकानेर में बजट पर प्रतिक्रिया : कांग्रेस ने की जादूगर की सौगातों की तारीफ तो भाजपा ने कहा- कुछ खास नहीं, युवा बोले- बस लागू हो जाए - Khulasa Online

बीकानेर में बजट पर प्रतिक्रिया : कांग्रेस ने की जादूगर की सौगातों की तारीफ तो भाजपा ने कहा- कुछ खास नहीं, युवा बोले- बस लागू हो जाए

- सरकार के चौथे बजट पर जनता की राय खुलासा न्यूज, बीकानेर। राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने चौथा बजट पेश कर दिया है। कांग्रेस ने जहां इस बजट को ऐतिहासिक करार दिया है। जबकि बीजेपी ने गहलोत सरकार के बजट को झूठी घोषणाओं का पुलिंदा बताया है। वहीं, बीकानेर की जनता ने सरकार के चौथे बजट पर मिलीजुली प्रतिक्रियाएं दी है। कुछ ने बजट को आम जनता का बजट बताया है। वहीं कुछ ने बजट को झूठी घोषणाओं का पुलिंदा बताया है।

मुख्यमंत्री द्वारा प्रस्तुत बजट ऐतिहासिक: शिक्षा मंत्री शिक्षा मंत्री डॉ. बी.डी. कल्ला ने कहा कि विधानसभा में पेश किया गया राज्य बजट ऐतिहासिक है। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने समाज के सभी वर्गों का ध्यान रखते हुए प्रदेश की जनता के समक्ष शानदार व लोककल्याणकारी बजट पेश किया है।    रीट परीक्षार्थियों की भावनाओं का सम्मान करते हुए मुख्यमंत्री ने गोपनीयता भंग होने के कारण रद्द हुई रीट भर्ती को जुलाई में पुन: करवाने, परीक्षा दे चुके अभ्यर्थियों से आवेदन शुल्क ना लेने व पदों की संख्या बढ़ाकर 62000 करने की व भविष्य में नक़ल रोकने हेतु एंटी चीटिंग सेल का गठन करने की घोषणा की है। डॉ. कल्ला ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा बजट भाषण में राजस्थान के गांवों और शहरों में 2000 नए महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालय, इन विद्यालयों में 10,000 नए अध्यापकों की भर्ती,  आर्ट् एवं क्राफ्ट, कंप्यूटर कक्षों के निर्माण का प्रावधान किया गया है। । साथ ही 3820 विद्यालयों का सीनियर सेकेंडरी में क्रमोन्नयन, ग्रामीण क्षेत्रों के विद्यार्थियों को शिक्षा से जोड़ने में अहम भूमिका निभाएगा।

श्रीकोलायत मिली कई सौगात-भाटी ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने बजट को राज्य के चहुंमुखी विकास वाला बताया और कहा कि इस बजट में सभी वर्गों का ध्यान रखा गया है। 1 जनवरी 2004 और उसके बाद लगे सरकारी कार्मिकों के लिए पुन: पेंशन स्कीम लागू कर ऐतिहासिक निर्णय लिया है। श्रीकोलायत मुख्यालय पर राजकीय कन्या महाविद्यालय स्वीकृत, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र गौडू को सामुदायिक स्वाथ्य केन्द्र रूप में क्रमोन्नत करने, गुड़ा में 950 करो? रूपये की लागत से 125 मेगावाट तापीय विद्युत परियोजना की स्थापना करने, रणजीतपुरा (बज्जू) में उप तहसील कार्यालय स्वीकृत होने, बज्जू में औद्योगिक क्षेत्र बनाने की घोषणा, श्रीकोलायत विधानसभा क्षेत्र में 10 करोड़ की राशि सडक़ निर्माण हेतु घोषित, रणजीतपुरा से ओसियां तक सडक़ का नवीनीकरण, चौड़ाईकरण व सुदृढ़ीकरण का कार्य लम्बाई 80 किलोमीटर लागत 64 करोड़ खर्च होंगे। दासोड़ी से बीकानेर सडक़ राज्य राजमार्ग संख्या136 का नवीनीकरण, चौड़ाईकरण व सुदृढ़ीकरण का कार्य लम्बाई 63 किलोमीटर पर 56.70 करोड़ रूपये खर्च होंगे। उन्होंने बताया कि देशनोक नगर पालिका क्षेत्र में 15 किलोमीटर की नवीन सडक़ें बनाई जायेगी।

सभी वर्गों के लिए लाभदायक है राज्य का बजट: आपदा प्रबंधन मंत्री

आपदा प्रबंधन और सहायता विभाग मंत्री  गोविंद राम मेघवाल ने मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत द्वारा प्रस्तुत किए गए राज्य के बजट को सभी वर्गों के लिए लाभदायक बताया है। उन्होंने कहा है कि बजट में मनरेगा के तहत 125 दिन रोजगार देने, शहरी क्षेत्र के लिए इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना लागू करने, प्रदेश के 118 लाख घरेलू उपभोक्ताओं को प्रति यूनिट पर अनुदान देने, चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत प्रत्येक परिवार को प्रति वर्ष 10 लाख रुपए तक का लाभ देने जैसी ऐतिहासिक घोषणाएं की हैं। उन्होंने खाजूवाला में नगरपालिका, पूगल अस्पताल को उप जिला अस्पताल के रूप में क्रमोन्नत करने, कोडमदेसर से सम्मेवाला सड़क के नवीनीकरण, पूगल और सत्तासर में रीको एरिया तथा पूगल की गौण मंडी के विकास के लिए बजट की घोषणा पर मुख्यमंत्री का आभार जताया है।

रामेश्वर डूडी ने कहा,   हर वर्ग का रखा गया है ध्यान

रामेश्वर डूडी ने कहा कि इसमें हर वर्ग का ध्यान रखा गया है और हर वर्ग के लोग इसका स्वागत करेंगे. आज प्रस्तुत बजट में नोखा राजकीय अस्पताल को जिला अस्पताल में क्रमोन्नत करने एवं नोखा में सिविल न्यायाधीश एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट न्यायालय खोलने की घोषणा के लिए समस्त नोखावासियों की तरफ से मुख्यमंत्री  Ashok Gehlot   का हार्दिक आभार एवं अभिनंदन 🙏 इससे नोखा में स्वास्थ्य सेवाओं एवं न्याय व्यवस्था को मजबूती मिलेगी।

यशपाल ने कहा, हर उम्मीदों को पूरा करता हुआ बजट

 शहर कांग्रेस जिला अध्यक्ष यशपाल गहलोत ने कहा कि अशोक गहलोत द्वारा पेश किया गया बजट हर वर्ग को हर क्षेत्र को और हर उम्मीदों को पूरा करता हुआ बजट है बजट में युवाओ,महिलाओ,नोकरीपेशा, सरकारी कर्मचारियों, सेवानिवृत कर्मचारियों, व्यापारियों, मध्यमवर्गीय परिवारों, शिक्षा, स्वास्थ,सेवा, सुरक्षा, सड़क, ग्रामीण विकास, पशुधन, सबका समावेश है।

जादुई आंकड़े के बजट ने खोला जादू का पिटारा-मकसूद अहमद

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक जी गहलोत के जादुई आंकड़े के बजट ने खोला जादू का पिटारा राजस्थान की इतिहास में पहली बार प्रदेश का पहला प्रथम कृषि बजट पास किया जो सराहनीय है माननीय मुख्यमंत्री ने बजट में कहा किसान हमारी अर्थव्यवस्था की घुरी है फिर आपने घोषणाओं का अंबार लगाया जैसे 1लाख किसानों को सोलर पंप में 500 करोड़ का अनुदान की घोषणा, जैविक खेती मिशन की घोषणा, कृषि संयंत्र खरीदने के लिए हर साल 5000 रुपए दिए जाएंगे की घोषणा, 60000 किसानों को कृषि यंत्रों पर अनुदान की घोषणा, बिजली कनेक्शन देने की घोषणा, सो ड्रोन उपलब्ध करवाने की घोषणा, ग्रीन हाउस खेती के लिए 400 करोड़ की घोषणा, पूर्वी राजस्थान नहर निगम की घोषणा, 5 लाख किसानों को फसली ऋण की घोषणा, लघु और सीमांत किसानों को मुफ्त,बीज देने की घोषणा, ग्रीन हाउस खेती के लिए 400 करोड़ की घोषणा, ऊट सरक्षण विकास नीति लागू करने की घोषण,किसानों को सिंचाई पाइप लाइन बिछाने पर अनुदान की घोषणा ,राजस्थान फसल सुरक्षा मिशन की घोषणा 500 नये डेयरी बूथ खोलने की घोषणा किसानों के लिए बहुत बड़ी सौगात है ।

जननायक का शानदार बजट : शिवलाल गोदारा

जिला कांग्रेस महामंत्री (देहात ) शिवलाल गोदारा ने जननायक का शानदार बजट बताया है।  हर हाथ को तरक्की...हर साथ को तरक्की.....हर वर्ग को जोड़ा । विधानसभा में पेश किया गया राज्य बजट ऐतिहासिक है। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने समाज के सभी वर्गों का ध्यान रखते हुए प्रदेश की जनता के समक्ष शानदार व लोककल्याणकारी बजट पेश किया है। 

बजट दिशाहीन व थोथी घोषणाओं का पुलिंदा मात्र : केन्द्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल केन्द्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल का कहना है कि राजस्थान की कांग्रेस सरकार द्वारा पेश किया गया बजट दिशाहीन व थोथी घोषणाओं का पुलिंदा मात्र है। अपनी पुरानी घोषणाओं को धरातल पर उतारने में असमर्थ रही गहलोत सरकार ने आज फिर जनता को गुमराह किया है।

कागजी घोषणाओं वाला बजट: विधायक सिद्धि बीकानेर(पूर्व) की विधायक सिद्धि कुमारी ने कागजी घोषणाओं वाला बजट बताया है। बजट में आमजन, महिलाओ ,युवाओं, किसानों व उद्यमियों के लिए कोई विशेष लाभकारी घोषणा नही की गई है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा दिए गए पूर्व के बजट में बीकानेर शहर के लिए की गई घोषणाओं का अब तक क्रियान्वयन नही हुआ है।

एडीजे कोर्ट खोलने की घोषणा त्वरित न्याय मिलने में होगी सुविधा : MLA बिहारी बिश्नोई 

आज राजस्थान सरकार के बजट 2022-23 में नोखा विधानसभा क्षेत्र की दो महत्वपूर्ण मांगे लगातार विधानसभा में मांग करके व मुख्यमंत्री जी से मिलकर लम्बे प्रयास के बाद स्वीकृत हुई  ।

1. स्टेट हाइवे 87 A रणजीतपुरा से ओसिया के नोखा विधानसभा क्षेत्र के 95 किमी भाग जयसिंहदेसर मगरा-पिथरासर-जांगलू-किशनासर-पांचू-उदासर-कुदसू-रोड़ा-कँवलीसर-हंसासर-कक्कू-साधूना-सारुण्डा तक नवीनीकरण, सुदृढ़ीकरण एवं चौड़ाईकरण की घोषणा हुई है । यह सड़क बन जाने से नोखा विधानसभा क्षेत्र के 50 गांवों का आवागमन सुगम होगा । इस सड़क पहले 3.5 मीटर चौङी थी अब यह 7 मीटर चौड़ी होगी । जिसकी लागत लगभग 100 करोड़ होगी । 2. नोखा में 40 साल के लंबे इंतजार के बाद एडीजे कोर्ट खोलने की घोषणा हुई है जिससे आमजन को सस्ता, सुलभ व त्वरित न्याय मिलने में सुविधा होगी ।

अखिलेश ने कहा, प्रदेश के किसानों को गुमराह किया

शहर भाजपा अध्यक्ष अखिलेश प्रताप सिंह ने कहा कि दिल्ली में किसान आंदोलन का समर्थन करने वाली सरकार को अपने प्रदेश में न्यूनतम समर्थन मूल्य की घोषणा करके दिखाना चाहिए था जो उन्होंने न कर प्रदेश के किसानों को गुमराह किया। राजस्थान के किसान हरियाणा में जाकर फसल बेचने पर मजबूर हो रहे है।

बजट पर प्रतिक्रिया यह बातों की जादूगरी का बजट है । मुख्यमंत्री जी ने सब कुछ अच्छा ही अच्छा बोलकर वाही वाही लूटने की कोशिश की है , यह सब लागू कैसे होगा उसकी कोई योजना नहीं है । इन सब घोषणाओं को लागू करने के लिए जरूरी आर्थिक संसाधन कहां से आएंगे इस पर कोई बात नहीं की है । ऐसा लगता है कि पिछले सालों की बजट घोषणाओं जैसा हश्र ही इस बजट का होना है । सुरेंद्रसिंह शेखावत भाजपा नेता बीकानेर बजट में किसानों के लिए कोई विशेष घोषणा नहीं : तोलाराम जाखड़ बजट में आमजन, महिलाओ ,युवाओं, किसानों व उद्यमियों के लिए कोई विशेष लाभकारी घोषणा नही की गई है। केवल घोषणाओं से भरा लोकलुभावन सब्जबाग वाला चुनावी बजट है। - तोलाराम जाखड़, भाजपा नेता  

गहलोत सरकार का ये बजट हर वर्ग को सौगात देने वाला : मधु आचार्य

गहलोत सरकार का ये बजट हर वर्ग को सौगात देने वाला है। इस बजट की सबसे बड़ी खासियत अलग से कृषि बजट होना है, मगर कुल बजट का केवल 5 प्रतिशत देना अखरता है। कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बहाली का निर्णय सुखद है। बीकानेर पश्चिम व पूर्व क्षेत्र की लिए कोई बड़ी घोषणा न होना निराशाजनक है। सरकारी कॉलेज, कन्या कॉलेज की अपेक्षा थी, मगर वो पूरी नहीं हुई। यातायात नियंत्रण के लिए ओवर ब्रिज, अंडर ब्रिज, रिंग रोड, बाई पास आदि भी नहीं मिले। 12 करोड़ राजस्थानियों की मायड़ भाषा को राज भाषा बनाने की मांग पूरी न होने से साहित्य, संस्कृति जगत निराश है। कुल मिलाकर बजट अच्छा है मगर बीकानेर पर पूरा ध्यान नहीं दिया गया। मधु आचार्य ' आशावादी '

पहली बार गेर अधिस्वीकृत पत्रकारों के लिए की घोषणा : अध्यक्ष जय नारायण  

बीकानेर प्रेस क्लब के अध्यक्ष जय नारायण बिस्सा ने सीएम की ओर से पहली बार गेर अधिस्वीकृत पत्रकारों के लिए की घोषणा का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि सीएम ने पहले भी पत्रकारों के हितार्थ अनेक निर्णय लिए है और यह भी क्रांतिकारी निर्णय है। उन्होंने वंचित पत्रकारों को भुखण्ड देने की मांग की है।

बीकानेर पत्रकार अधिस्वीकरण नियमों का होगा सरलीकरण : भवानी शंकर जोशी प्रदेश उपाध्यक्ष भवानी शंकर जोशी ने कहा है कि पत्रकारों को अधिस्वीकृत करने के नियमों को सरल किया जाएगा। उधर पत्रकारों के हित में की गई घोषणा का जनर्लिस्ट एसोसएिशन ऑफ राजस्थान (जार) ने भी स्वागत किया है। कहा बजट में मुख्यमंत्री गहलोत ने स्पष्ट कहा कि कोरोना महामारी के खिलाफ राज्य के पत्रकार भी मेडिकल स्टाफ व सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े थे। इनका योगदान कम नहीं था इसलिए अब अधिस्वीकृत पत्रकारों के साथ साथ गैर अधिस्वीकृत पत्रकारों को भी समस्त सरकारी योजनाओं का लाभ मिलेगा।  जार के प्रदेश उपाध्यक्ष भवानी शंकर जोशी ने कहा कि इससे पत्रकारों को बड़ी राहत मिलेगी क्योंकि अभी अधिस्वीकृत और गैर अधिस्वीकृत पत्रकारों में सरकारें भेद कर रही थी लेकिन इस घोषणा से सभी पत्रकारों को राहत मिलेगी।

तीन लाख से ज्यादा कर्मचारियों को मिलेगा फायदा, सीएमने किया कर्मचारियों के हित में फैसला : कृष्णा कंवर आईजीएनपी में सीनियर अस्सिटेंट पद पर कार्यरत कृष्णा कंवर ने कहा कि इस बजट में तीन लाख से ज्यादा कर्मचारियों को फायदा मिलेगा। सीम ने कर्मचारियों के हित में फैसला किया है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2004 के पश्चात नियुक्त कर्मचारियों की पेंशन को वर्ष 2004 से पूर्व की पेंशन बहाल की जिसके लिए राजस्थान के समस्त कर्मचारियों में खुशी है । साथ ही वर्ष 2017 के वेतन विसंगति का मामला भी सरकार ने कर्मचारियों भावनाओं के अनुरूप कर्मचारियों के हित में फैसला किया।

आने वाले सालों में राज्य के विकास को नवीन आयाम देने में सक्षम होगा  : पीयूष शंगारी

वैसे तो बजट में कई तरह को घोषणाएं की गई हैं किन्तु मुझे मुख्य रूप से टूरिज्म, हेल्थ और एजुकेशन से संबंधित घोषणाओं ने अधिक आकृष्ट किया और उसमें भी सबसे अधिक मेरा ध्यान आकृष्ट हुआ है टूरिज्म तथा हॉस्पिटैलिटी जैसे सेक्टर को इंडस्ट्री में तब्दील करने वाले विचार पर क्योंकि राजस्थान का टूरिज्म वैसे भी विदेशों तक ख्याति प्राप्त है किंतु इसे इंडस्ट्री के रूप में तब्दील करने से यह न केवल राज्य की आमदनी ही बढ़ाएगा बल्कि इससे जुड़े हुए कई और सेक्टर्स भी आबाद होंगे जैसे कि इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर हुआ, हैंडीक्राफ्ट से जुड़े हुए छोटे उद्योग हुए, राजस्थान के व्यंजनों से जुड़ा रेवेन्यू हुआ और उसके साथ ही रोड नेटवर्क का डेवलपमेंट आदि आने वाले सालों में राज्य के विकास को नवीन आयाम देने में सक्षम होगा।-पीयूष शंगारी, फ़ाउंडर और बिज़नेस हेड , पी एस इन्वेस्ट्मेंट्स

बजट में कर्मचारियों को बड़ी सौगात : सीए श्री कांत ओझा

सीएम अशोक गहलोत ने बजट में कर्मचारियों को बड़ी सौगात देते हुये सरकार कर्मचारियों को पुरानी पेंशन स्कीम का लाभ देने का ऐलान किया है। सीएम गहलोत ने न्यू पेंशन स्कीम को रद्द कर दिया है. वहीं कर्मचारियों की वेतन कटौती पर भी रोक लगा दी है ।कृषक साथी योजना की राशि 2000 करोड़ से बढ़ाकर 5000 करोड़ करने का ऐलान किया है.मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना में लाभ की सीमा 5 लाख से बढ़ाकर 10 लाख रुपये करने की घोषणारिप्स के तहत 31 मार्च 2022 तक छूट ले रहे उद्योगों को अब 31 मार्च 2023 तक छूट मिलेगी. वहीं अब औद्योगिक क्षेत्र में भूमि रूपातंरण पर कोई शुल्क नहीं लगेगा. इस साल रीको में 10% सर्विस चार्ज नहीं बढ़ाया जाएगा. केन्द्र की तर्ज पर कृषकों को विशेष लाभ दिया गया है एवम हेल्थ सेक्टर में विशेष महत्व दिया है । सीए श्री कांत ओझा

लाभदायक बजट : सुशील बंसल सुशील बंसल, व्यवसायी ने राज्य के बजट को सभी वर्गों के लिए लाभदायक बताया है। उन्होंने कहा है कि बजट में मनरेगा के तहत 125 दिन रोजगार देने, शहरी क्षेत्र के लिए इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना लागू करने, प्रदेश के 118 लाख घरेलू उपभोक्ताओं को प्रति यूनिट पर अनुदान देने, चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत प्रत्येक परिवार को प्रति वर्ष 10 लाख रुपए तक का लाभ देने जैसी ऐतिहासिक घोषणाएं की हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पहली बार पेश किया गया अलग कृषि बजट किसानों के लिए वरदान साबित होगा। - सुशील बंसल, व्यवसायी    इस बजट में हर नागरिक का रखा गया ध्यान : प्रदेशाध्यक्ष सिसौदिया बजट में सभी वर्ग का ध्यान रखा गया है। विशेषतौर पर सामान्य वर्ग पर भी ध्यान रखा गया जो स्वागत योग्य है। - करण प्रताप सिंह सिसौदिया, प्रदेशाध्यक्ष, करणी सेना बजट में कुछ खास नहीं : जुगल राठी सीएम गहलोत द्वारा पेश किए गए बजट में कुछ खास नहीं है। किसी भी वर्ग का ध्यान नहीं रखा गया हैं। लगातार पिछले तीन बजट की घोषणाएं और अभिभाषण का सरकार एक श्वेत पत्र लेकर आए। उनकी कथनी और करनी में फर्क है। धरातल पर घोषणाएं नहीं उतरती हैं। किसान कर्जमाफी उसका बड़ा उदाहरण है। प्रदेश में 27 फीसदी बेरोजगारी से निपटने का कोई रोडमैप नहीं दिया। - जुगल राठी, समाजसेवी कर्मचारी और किसान वर्ग को बहुत महत्व दिया : दिलीप पुरी आज राजस्थान सरकार के मुखिया  अशोक गहलोत द्वारा बजट पेश किया गया जिसमें हर वर्ग का ध्यान रखा गया है कर्मचारी और किसान वर्ग को बहुत महत्व दिया गया और बीकानेर जिले को बहुत सी सौगात दी गई है माननीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के द्वारा दिया गया बजट इतिहास का सबसे अलग बजट है अगर अशोक गहलोत सरकार इस बजट पर पूर्ण रूप से लागू करती है तो इससे अच्छा बजट कोई मुख्यमंत्री नहीं दे सकता। - दिलीप पुरी, समाजसेवी

सचिवालय परिवार को निराशा हाथ लगी: मेघराज सिंह 

वर्ष 2004 के पश्चात नियुक्त कर्मचारियों की पेंशन को वर्ष 2004 से पूर्व की पेंशन बहाल की जिसके लिए राजस्थान के समस्त कर्मचारियों में खुशी है । साथ ही वर्ष 2017 के वेतन विसंगति का मामला भी सरकार ने कर्मचारियों भावनाओं के अनुरूप कर्मचारियों के हित में फैसला किया लेकिन शासन सचिवालय में पदस्थापित कर्मचारियों अधिकारियों की शासन उप सचिव के पद बढ़ोतरी सहित कई मांगे जो कि सरकार से उम्मीद थी बजट में य सचिवालय परिवार को निराशा हाथ लगी । मेघराज सिंह अध्यक्ष, शासन सचिवालय अधिकारी संघ

उद्योगपतियों ने बजट को स्वागत योग्य बताया बीकानेर जिला उद्योग संघ अध्यक्ष द्वारकाप्रसाद पचीसिया, उपाध्यक्ष नरेश मित्तल एवं बीकानेर व्यापार उद्योग मंडल सचिव वीरेंद्र किराडू ने राजस्थान बजट पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए राजस्थान बजट को औद्योगिक एवं सर्वसाधारण हेतु लाभकारी बताते हुए कहा कि पर्यटन को उद्योग का दर्जा देने पर अब पर्यटन क्षेत्र से जुड़े सभी व्यवसायियों पर वाणिज्यिक नियमों की बजाय औद्योगिक नियम लागू होंगे। नए उद्यमियों के लिए जिन स्वीकृतियों व निरीक्षण को 3 साल से बढाकर 5 साल करना स्वागत योग्य कदम है। वैट की एमनेस्टी स्कीम को मार्च 2023 तक बढाया जाना स्वागत योग्य है। मंडी ब्याज माफ़ी योजना 2019 को 30 सितंबर 2022 तक बढाया जाना स्वागत योग्य है। रिको के सर्विस चार्ज में एक साल के लिए कोई बढ़ोतरी नहीं करना स्वागत योग्य है। मुख्यमंत्री लघु उद्योग प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत ब्याज पर सब्सिडी 8 प्रतिशत से 9 प्रतिशत करना स्वागत योग्य है इससे छोटे व नए उद्यमियों को अपने उद्यम के स्थापना एवं विस्तार को बढावा मिलेगा। औद्योगिक विकास को बढावा देने हेतु बज्जू, सतासर, तेजपुरा और पूगल में नए औद्योगिक क्षेत्र की स्थापना की घोषणा से रोजगार एवं ग्राम विकास को बढावा मिलेगा। औद्योगिक पुराने बकाया विद्युत बिलों के भुगतान के लिए एमनेस्टी स्कीम लागू करना स्वागत योग्य है। बीकानेर को महानगरों से जोडऩे के लिए हवाई सेवा विस्तार हेतु निशुल्क भूमि उपलब्ध ना करवाना बीकानेर के पर्यटन व औद्योगिक विकास के लिए निराशाजनक है। औद्योगिक बिजली दरों को कम ना करना निराशाजनक है।

आज़ादी की 75 विं वर्ष गाँठ पर आधुनिक शिक्षा और विकसित राजस्थान बनाने के लिए राजस्थान सरकार का इतिहासिक बजट जिससे कोई अछूता नही रहा किसान, कर्मचारी, युवाओं के लिए आविष्कारक घोषणाएँ की गयी, बीकानेर को स्मार्ट सिटी के साथ प्राधिकरण घोषित किया जाना बीकानेर के विकाश की गाथा लिखेगा। साजिद सुलेमानी पूर्व सदस्य, केंद्रीय पुरातत्व सलाहकार बोर्ड, भारत सरकार सदस्य, प्रदेश कांग्रेस कमेटी  
error: Content is protected !!
Join Whatsapp