नवरात्री के घटस्थापना के लिए 2 मुहूर्त, पढ़े पूरी खबर

बीकानेर। आज से शक्ति की आराधना का पर्व शुरू हो गया है, जो 15 अक्टूबर को दशहरे पर खत्म होगा। इस बार तिथियों की घट-बढ़ होने से नवरात्रि 8 दिनों की ही रहेगी। इस बार गुरुवार से नवरात्रि शुरू होने पर देवी झूले पर बैठकर आएंगी और शुक्रवार को दशहरा पर देवी के जाते वक्त वाहन हाथी होगा। आज घटस्थापना के लिए सिर्फ 2 ही शुभ मुहूर्त रहेंगे। इस साल चित्रा नक्षत्र और वैधृति नाम का अशुभ योग पूरे दिन रहने के कारण ऐसा हो रहा है। इस पर उज्जैन, पुरी, तिरुपति, हरिद्वार और बनारस के विद्वानों का कहना है कि अभिजीत मुहूर्त में घटस्थापना करना शुभ रहेगा। लोक परंपरा के मुताबिक कई जगहों पर चौघडिय़ा मुहूर्त देखकर कलश स्थापना की जाती है। इसके लिए सूर्यास्त के पहले तक कुल 4 मुहूर्त रहेंगे। लोक परंपरा के मुताबिक कई जगहों पर चौघडिय़ा मुहूर्त देखकर कलश स्थापना की जाती है। इसके लिए सूर्यास्त के पहले तक कुल 4 मुहूर्त रहेंगे। 7 शुभ योग में कलश स्थापना: नवरात्रि की शुरुआत 7 शुभ योगों में हो रही है। इस दिन सूर्योदय के वक्त कुंडली में महालक्ष्मी, पर्वत, बुधादित्य, शंख, पारिजात, भद्र और केमद्रुम योग रहेंगे। इन शुभ योगों में शक्ति पर्व की शुरुआत होने के कारण देवी पूजा से सुख-समृद्धि और तरक्की मिलेगी। नवरात्रि में 6 शुभ योग: नवरात्रि में 9, 10, 11, 14 और 15 अक्टूबर को रवियोग रहेंगे। वहीं दशहरा अपने आप में अबूझ मुहूर्त होता है। इस तरह 15 अक्टूबर तक हर तरह की खरीदारी, रियल एस्टेट में निवेश और नए कामों की शुरुआत के लिए 6 दिन बहुत ही शुभ रहेंगे।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp