भारत को अब नीरज चोपड़ा और पहलवान बजरंग पूनिया से है मेडल की उम्मीद - Khulasa Online

भारत को अब नीरज चोपड़ा और पहलवान बजरंग पूनिया से है मेडल की उम्मीद

टोक्यो। टोक्यो ओलंपिक अपने अंतिम पड़ाव पर पहुंच गया है। भारत के लिए आज (7 अगस्त) का दिन काफी अहम साबित होने वाला है। आज भारत को तीन मेडल की उम्मीद थी लेकिन गोल्फर अदिति के फाइनल राउंड में चौथे स्थान पर रहने से एक मेडल की उम्मीद टूट गई। अब जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा और पहलवान बजरंग पूनिया से मेडल की उम्मीद है। जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा आज अपना फाइनल मुकाबला खेलेंगे। यह मुकाबला और ज्यादा रोचक होने वाला है क्योंकि फाइनल में पाकिस्तान के अरशद नदीम को नीरज का सबसे मजबूत प्रतिस्पर्धी माना जा रहा है। जैवलिन थ्रो का फाइनल मुकाबला भारतीय समयानुसार शाम 4.30 बजे शुरू होगा रोमांचक होगा मुकाबला जैवलिन थ्रो के फाइनल मुकाबले के रोमांचक होने की पूरी उम्मीद है, क्योंकि क्वालिफिकेशन राउंड में नीरज चोपड़ा और अरशद नदीम ने जैसा प्रदर्शन किया, उससे यह तय माना जा रहा है कि ये दोनों जैवलिन थ्रोअर मेडल के लिए पूरी ताकत झोंक देंगे। इससे पहले दोनों ही खिलाडिय़ों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए फाइनल में जगह बनाई है। अब दोनों ही खिलाड़ी मेडल जीतने की पूरी कोशिश करेंगे। 2020 : सेमीफाइनल में हाजी एलियेव से हारे बजरंग पूनिया, अब कांस्य पदक के लिए लड़ेंग नीरज के सबसे बड़े प्रतिद्वंदी अरशद नदीम भारत के 23 वर्षीय नीरज चोपड़ा ने पहले ही प्रयास में 86.65 मीटर भाला फेंका था। वह पहले ही प्रयास में ग्रुप-ए में टॉप पर रहे। वहीं पाकिस्तान के अरशद नदीम ने 85.16 मीटर के थ्रो के साथ फाइनल के लिए क्वालिफाई किया था। दोनों ग्रुप को मिलाकर कुल 12 खिलाडिय़ों ने फाइनल के लिए क्वालिफाई किए हैं। फाइनल में पाकिस्तान के अरशद नदीम को नीरज का सबसे बड़ा प्रतिद्वंदी माना जा रहा है। नदीम ग्रुप बी में टॉप पर रहते हुए खिताबी मुकाबले में पहुंचे हैं। भारत के खाते में अब तक 5 मेडल, 3 मेडल की और उम्मीद एशियन गेम्स में गोल्ड जीत चुके हैं अरशद नदीम भाला फेंक में नीरज चोपड़ा पाकिस्तानी खिलाड़ी अरशद नदीम के आइडल हैं। अरशद ने वर्ष 2016 के साउथ एशियन गेम्स में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। वहीं नीरज ने इस प्रतियोगिता में गोल्ड पर कब्जा जमाया था। इसके अलावा पाकिस्तानी एथलीट ने एशियन गेम्स में सिल्वर मेडल हासिल किया था। वहीं नीरज चोपड़ा ने स्वर्ण पदक जीता था। इसके अलावा नदीम 2019 एशियन गेम्स में गोल्ड जीत चुके हैं। ओलंपिक के इतिहास में अब तक कोई भी भारतीय एथलीट ट्रैक एंड फील्ड स्पर्धा में पदक नहीं जीत सका है। टोक्यो ओलंपिक में जैवलिन थ्रोअर (भाला फेंक) नीरज चोपड़ा इस सूखे को खत्म कर सकते हैं
error: Content is protected !!
Join Whatsapp