लोहे के सरिए से भरा ट्रक पलटने से 13 मजदूरों की मौत, 3 गंभीर - Khulasa Online

लोहे के सरिए से भरा ट्रक पलटने से 13 मजदूरों की मौत, 3 गंभीर

महाराष्ट्र के बुलढाणा में लोहे के सरिये से भरा ट्रक पलटने से 13 लोगों की मौत हो गई है। बुलढाणा के सिंधखेड़ाजा में शुक्रवार की दोपहर को 2 बजे जब यह ट्रक पलटा, तो उस पर कुल 16 लोग सवार थे। हादसे में जिंदा बचे 3 लोगों की हालत गंभीर है, उन्हें जालना के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हादसे में जिंदा बचे लोगों में एक 5 साल की बच्ची शामिल है। सभी मृतक मध्य प्रदेश के खरगोन के रहने वाले थे, जो हाईवे पर मजदूरी करने के लिए महाराष्ट्र आए थे।जिस हाईवे पर हादसा हुआ, उसका नाम हिंदू हृदय सम्राट बाला साहेब समृद्धि हाईवे है। पुलिस के मुताबिक, हाईवे के ताडेगांव-दसरबीड सेक्शन से गुजरते वक्त ट्रक की रफ्तार तेज थी और उस पर लोड भी ज्यादा था, इसलिए वह बेकाबू होकर पलट गया। ट्रक पलटने के बाद सरिए के नीचे दबने से 8 लोगों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया, जबकि 5 लोगों की इलाज के दौरान मौत हो गई। बस को साइड देते वक्त कीचड़ में फंसा ट्रक का टायर दुर्घटना में जिंदा बचे एक मजदूर ने बताया कि सड़क पर पानी था और पीछे से आ रही एक बस को साइड देते समय ट्रक नंबर MH 11 CH 3728 का एक टायर कीचड़ में फंस गया। रफ्तार तेज होने के कारण ट्रक पलट गया। ट्रक पर छोटे-छोटे लोहे के कई हजार टुकड़े थे। गाड़ी पलटते ही सभी 16 लोग इसके नीचे दब गए। इसमें से जो उपरी हिस्से में थे, वे जान बचाने में कामयाब रहे और जो निचले हिस्से में थे, वे दबकर मर गए। हाईवे पर बनने वाले ब्रिज के लिए सरिए ले जा रहा था ट्रक किंगांव राजा थाने के थानेदार सोमनाथ पवार ने बताया कि दुसर बीड से लोहे के सरिए लेकर यह ट्रक ताडेगांव में एक सड़क निर्माण साइट पर जा रहा था। इस पर लदे सरियों का इस्तेमाल समृद्धि हाईवे पर बनने वाले एक ब्रिज में होना था। अभी तक मृतकों के नाम पता नहीं चल सके हैं।किंगावराजा पुलिस के अनुसार, बारिश के कारण समृद्धि हाईवे के पास साइट का काम रुक गया था। इसके बाद सभी मजदूर ताडेगांव शिविर में लौट रहे थे। हादसे के बाद मेहकर से सिंधखेड़ाजा रूट पर खड़कपूर्णा नदी का पुल कमजोर होने से भारी ट्रैफिक को ताडेगांव होते हुए देउलगांव माही की तरफ मोड़ दिया गया है।

error: Content is protected !!
Join Whatsapp