>


बीकानेर। शहर मे बढ़ते अपराध के कारण अब शहर के लोग अपने आपको असुरक्षित समझने लगे है। अब शहर में दिन हो या रात लूटेरे किसी भी समस आपके साथ वारदात करके फरार हो सकते है। लेकिन जिला पुलिस के अधिकारियों के द्वारा अपनी गश्त पर बड़े- बड़े दावे किये जा रहा है। लेकिन पुलिस के सभी दावे फेल नजर आ रहे है। जानकारी के अनुसार जयपुर के फुलेरा का यह युवक तिलकराज रेलवे स्टेशन पर उतरा और बस स्टैंड के लिए टैक्सी की। बताते हैं कि उसके साथ मारपीट व लूटपाट करने वाले लोग यहीं से साथ हो गए थे। टैक्सी में उसके साथ बैठे दो-तीन जनों ने करणीसिंह स्टेडियम के पास टैक्सी रोकी और उसे स्टेडियम में ले गए। वह विरोध करता इससे पहले उसके सर पर पत्थर मारा और साइकिल वेलोड्राम के नीचे ले जाकर पिटाई की। वैसे भी यह क्षेत्र चहल-पहल भरा नहीं है। रात को 11 बजे के आसपास की यह घटना है,जब इस युवक के साथ वारदात हुई। मारपीट के दौरान उसका सामान और रुपये भी छीन लिए गए और जब लगा कि इसके पास कुछ भी नहीं है, उसे छोड़कर भाग गए।सदर थाना पुलिस को इत्तला मिली, तब उसे अस्पताल पहुंचाया गया। अस्पताल पहुंचने के समय युवक लहूलुहान था। उसे प्राथमिक उपचार दिया गया। अभी युवक को छुट्टी दी गई। समाजसेवी आदर्श शर्मा ने इस युवक की सुध ली है।यह तो वह शहर है जहां रात के तीन बजे भी लोग सहयोग के लिए तत्पर रहते हैं, वहां इस तरह की लूट होना हैरत की बात है। हालांकि इससे भी अधिक चिंताजनक यह है कि रेलवे स्टेशन से बस स्टैंड के बीच रात 11 बजे हुई इस वारदात के दौरान कहीं पुलिस की गश्त नहीं थी। करणीसिंह स्टेडियम में हुई इस वारदात के दौरान युवक चीखा-चिल्लाया भी होगा, लेकिन किसी को भी पता नहीं चला?