>


बीकानेर। अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस पर शक्रवार को पूरा शहर योगमय हो गया। मुख्य समारोह पब्लिक पार्क में हुआ। इसके साथ ही शहर के विभिन्न पार्कों में भी योगाभ्यास किया गया। योग प्रशिक्षकों ने जीवन में स्वस्थ रहने के गुर सिखाएं। योग के अलग-अलग आसन का अभ्यास किया। इसमें बड़ी संख्या में लोगों ने भागीदारी निभाई। जिला स्तरीय समरोह में पब्लिक पार्क परिसर में सुबह छह बजे संवित सोमगिरी महाराज के सान्निध्य में हुए मुख्य समारोह में जिला कलक्टर सहित प्रशासनिक अधिकारी, जनप्रतिनिधियों, चिकित्सकों, विद्यार्थियों व महिला संगठनों ने भागीदारी निभाई।स्कूलों में भी योग दिवस मनाया गया। पतंजलि योग संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में व्यास कॉलोनी के वृन्दावन पार्क, नेचर योग संस्थान की ओर से व्यास पार्क, लालीमाई मोहल्ला विकास समिति की ओर से लालीमाई पार्क, इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया की शाखा ने शिववैली में योग दिवस मनाया गया। विप्र फाउण्डेशन महिला प्रकोष्ठ की ओर से वृद्धजन भ्रमण पथ पर योग कराया गया।
एसकेआरएयू में सैकड़ों लोगों ने किया सामूहिक योगाभ्यास
स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय तथा योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा केन्द्र के संयुक्त तत्वावधान् में विश्वविद्यालय परिसर में भव्य कार्यक्रम आयोजित किया गया। योग गुरु दीपक चांवरिया और सहप्रशिक्षक चंद्रशेखर शर्मा ने भारत सरकार के प्रोटोकॉल के अनुसार योगाभ्यास करवाया। इस अवसर पर राष्ट्रीय उष्ट्र अनुसंधान केन्द्र के निदेशक डॉ. आर के सावल, केन्द्रीय भेड़ एवं ऊन अनुसंधान संस्थान के प्रभागाध्यक्ष डॉ. एच के नरुला, केन्द्रीय वस्तु एवं सेवा कर के सहायक आयुक्त एम एस यादव, केन्द्रीय शुष्क अनुसंधान संस्थान के डॉ. एन डी यादव, बैंक ऑफ बड़ौदा की क्षेत्रीय उपमहाप्रबंधक सविता डी केणी ने योग के महत्व पर प्रकाश डाला।
विश्वविद्यालय के छात्र कल्याण निदेशक प्रो. वीरसिंह ने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा पांच दिवसीय योग शिविर आयोजित किया गया। इसमें 40 से अधिक योग साधकों ने भाग लिया। वहीं मुख्य समारोह में जिला मुख्यालय के दस संस्थानों के सैकड़ों लोगों ने सामूहिक योगाभ्यास किया। उन्होंने निदेशालय की गतिविधियों के बारे में बताया तथा कहा कि प्रत्येक व्यक्ति नियमित योगाभ्यास का संकल्प ले।विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो. राजेश शर्मा ने कहा कि हमारे ऋ षि-मुनियों ने हजारों वर्ष पहले योग-प्राणायाम के महत्व के बारे में बताया, लेकिन कालांतर में हम इनसे दूर होते गए। योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा केन्द्र के निदेशक डॉ. देवाराम काकड़ ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की पृष्ठभूमि के बारे में बताया। आठवी कक्षा के छात्र महीप बंसल ने योग पर विचार रखे तथा विजयश्री नाइक ने योग गीत प्रस्तुत किया। आइएबी एम निदेशक डॉ. एन के शर्मा ने आभार जताया। इस अवसर पर अनुसंधान निदेशक डॉ. एस एल गोदारा, अधिष्ठाता (स्नातकोतर शिक्षा) डॉ. विमला डुकवाल, रक्षा संपदा अधिकारी जोन्स विकास, देवेन्द्र योग संस्थान के रतनसिंह निर्वाण, विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डॉ. ए के शर्मा, डॉ पी एस शेखावत, डॉ. आर एस यादव सहित विश्वविद्यालय, केन्द्रीय शुष्क बागवानी एवं अन्य संस्थानों के कार्मिक, उनके परिजन तथा विद्यार्थी मौजूद रहे।
नत्थूसर बास दीनदयाल पार्क
शहर के नत्थूसर बास स्थित दीनदयाल पार्क में योग शिविर का आयोजन हुआ। जिसमें छोटे बालक-बालिकाओं सहित युवाओं ने भाग लिया। इस अवसर पर योग प्रशिक्षक नंदकिशोर गहलोत ने सभी बच्चों को ताड़ासन, हलासन, चक्रासन और वृक्षासन का अभ्यास करवाया ओर कपालभाति, अनुलोम-विलोम, भ्रामरी आदि प्राणायाम को महत्व के साथ करवाया। शिविर में भवानीशंकर सांखला, पीयूष स्वामी, उमाशंकर सोनी, अमर सांखला, किशन सोनी, अशोक सांखला, नवरत्न कच्छावा, जसवंत कच्छावा, भगीरथ कच्छावा, देवेंद्र सांखला पुनीत गहलोत,मनीष त ंवर,गौरव तंवर, नेमीचंद सांखला, वर्षा कच्छावा, तानिया कच्छावा, आराधना सांखला, प्रेरणा कच्छावा व आदि मोहल्ले वासियों का सहयोग रहा।
यूसीईटी में मनाया योग दिवस
बीटीयू के संघटक महाविद्यालय, विश्वविद्यालय अभियांत्रिकी एवं प्रौद्योगिकी महाविद्यालय (यूसीईटी) में अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया। महाविद्यालय के कार्यवाहक प्राचार्य एवं शैक्षणिक/अशैक्षणिक कर्मचारियों तथा
बीटीयू के कार्मिकों द्वारा योग की विभिन्न क्रियाएं की गई। महाविद्यालय म ें योग दिवस पर आर्ट
ऑफ लिविंग एवं वैलेस सेंटर के निदेशक जितेन्द्र व्यास को बुलाकर अधिकारियों एवं कार्मिकों
को योग करवाया गया।
रामपुरिया लॉ कॉलेज
रामपुरिया विद्यि महाविद्यालय में योग दिवस पर समस्त स्टाफ एवं छात्रों ने महाविद्यालय परिसर में योगाभ्यास किया । इस अवसर पर कॉलेज षिक्षा सहायक निदेशक डॉ राकेश हर्ष एवं प्राचार्य डॉ.अनन्त जोशी के निर्देशन में योगाभ्यास किया। इस अवसर पर योग से होने वाले स्वास्थ्य लाभ के प्रति महाविद्यालय स्टाफ को जागरुक करने के लिए एक विचार गोष्ठी का भी आयोजन किया गया। जिसमें प्राचार्य डॉ.अनन्त जोशी ने योग के विभिन्न मुद्राओं के बारे में एवं उनसे होने वाले लाभ से अवगत कराया।
डॉ. रितेष व्यास ने कहा कि विभिन्न बीमारियों शुगर, हद्धयघात इत्यादि से योग के द्वारा किस प्रकार बचा जा सकता है। गोष्ठी के अतं में महाविद्यालय के समस्त स्टाफ ने प्रतिदिन योग करने हेतु संकल्प लिया।
कैंसर अस्पताल में चिकित्सकों व रोगियों ने किया योग
उधर आचार्य तुलसी कैंसर रिसर्च अस्पताल में संजीवनी संस्थान की ओर से योग शिविर लगाया गया। जिला समन्वयक अभिषेक जोशी ने बताया कि इस मौके पर योग गुरू बंशीलाल प्रजापत ने अलग अलग चिकित्सकीय स्टाफ व रोगियों को योग की विभिन्न क्रियाएं करवाई। पहले चिकित्सकों ने अपने समस्त स्टाफ के साथ अलग अलग आसन किए। बाद में कैंसर पीडि़त रोगी व उनके परिजनों ने योगाभ्यास किया।