‘एसडीएम साहब आपको भगवान सजा देंगे’, अब हो रही है जबरदस्त चर्चा
– पूगल एसडीएम को एक गरीब निराश्रित का खुला खत
खुलासा न्यूज़, बीकानेर। बीकानेर का एक शख्स अपनी किडनी बेचने को इसलिए मजबूर हो जाता है जब प्रशासन द्वारा कोई सहायत नहीं मिलती है। बार-बार प्रशासन के चक्कर काटने के बावजूद भी जमीन पर कब्जा करने वाले आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही नहीं की जाती है और जर्जर अवस्था में मकान को ठीक नहीं करवाया जाता है। ऐसे में एक गरीब निराश्रित अपनी किडनी और आंखें बेचने की पोस्ट सोशल मीडिया में वायरल कर देता है। साथ ही इस संबंध में निराश्रित पूगल एसडीएम और राज्य के मुख्यमंत्री को खत लिखता है। यह खत सोशल मीडिया में जबरदस्त वायरल हो रहा है। इस खत े सोशल मीडिया में खलबली सी मच गई है। यूजर्स पूगल एसडीएम के खिलाफ भड़ास निकालते नजर आ रहे है।

किडनी बेचने की पोस्ट की वायरल, यहां देखें

मैरे देश के बहन और भाइयों मैं एक गरीब अपाहिज वयक्ति हूं, मेरे माँ बाप बीवी बच्चे कोई नहीं है ,यह माने कि मैं एक अनाथ हूं मेरे पास आधा मुबारक जमीन थी जो एकमात्र मेरे जीवन का सहारा थी जो कि उसे वरषो पहले मेरे बहनोइ ने बलपूर्वक छीन लिया था, बीस वर्ष से में चयनित में हूँ लेकिन मुझे मकान नहीं मिला मैं वरषो से पुगल परशासन के चक्कर काट रहा हूँ, लेकिन कोई सुनवाई नहीं, मेरे मकान की हालात खराब है, बरसात का मौसम है कभी भी मेरे उपर गिर सकता है लेकिन मैं इन अधिकारियो के भरोसे मर तो नहीं सकता मेरे पास दो आख और दो किडनी सही सलामत है इसलिए मैं मकान बनवाने व अन्य दैनिक जरूरतों की पूर्ति के लिए मै अपनी एक आख व एक किडनी बेचना चाहता हूं किसी को जरुरत हो तो। मोबाइल नंबर7891986629 पर मुझसे बता करें, मैं अपने देश वासियों हर भाई बहनो से विनती करता हूँ, कि मेरी इस बात को अधिक सै अधिक लोगों तक पहुंचाकर मुझ गरीब की मदद करे भगवान आपको हिभइर पप बहन भाइयो पर विश्वास है कि आप मेरी इस बात देश के कोने कोने में पहुचाकर मेरी मदद करेगे  ।
सीएम को लिखा खत, यहां देखें

श्रीमान जी
माननीय

मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी राजस्थान सरकार

विषय गरीब अपाहिज वयक्ति को नयाय दिलाने के लिए
महोदय जी
विनम्र निवेदन है कि मै गोरधन पुत्र श्री पुरणराम जाती धाणक सियासत परकोटा हल चक 660 RD तह पुगल जिला बीकानेर राजस्थान का निवासी हू मैं गरीब अपाहिज वयक्ति हूं मेरे पास मेरा वाजिब आधा मुरब्बा जमीन जो कि एक मात्र मेरे जिनै का आधार है जोकि वरषो पहले मेरे बहनोइ ने छीन लिया आजतकआजतक नहीं दिलवाया गया है बीस वर्ष मै चयनित में हूं मेरे को चयनित का मकान नहीं दिया गया है  ।

पूगल एसडीएम को एक गरीब निराश्रित का खुला खत

‘एसडीएम साहब आपको भगवान सजा देंगे’

पुगल के S D M महेंद्रसिह यादव तू क्या समझता तेरा पिछा छुट गया और मैं हार गया हारने केलिए मेरे पास है ही क्या तू ईस पुगल कोरट का भगवान बना बैठा है ना, यह तेरी भूल है भगवान तो वह है जिसने तेरे को SDM और मेरे को अपाहिज बनाया है मैं कही जन्मा और तू कही और फिर भी हम एक दूसरे के आमने सामने है यह भगवान का ही काम है भगवान मेरे मध्यम से तेरी परीक्षा लेरहा था और उसमें तू फैल हो गया इसकी सज तेरे को भगवान जरूर तेरे को इसकी सजा देगा।