अजमेर/चूरू़ । महिला किस-किस पर भरोसा करे। एक विवाहिता की रिश्तेदारों ने ही आबरू लूट ली। चूरू जिले के सुजानगढ़ स्थित नयाबास मोहल्ले में एक दम्पती ने आत्महत्या कर ली। इसके तहत पति फंदे पर झूल गया तो पत्नी ने जहर खाकर जान दे दी। पुलिस के अनुसार पति-पत्नी के बीच रोजोना झगड़ा होता रहता था। इसके चलते दोनों परेशान थे। पति के फंदे पर झूलने की जानकारी मिलते ही पत्नी ने विषाक्त पदार्थ का सेवन कर लिया। महाराष्ट्र के संतारा जिले के गांव गारूर निवासी हनुमन्त राजकीय भराडिय़ा बालिका बालिका माध्यमिक विद्यालय के पास किराए के मकान में परिवार सहित रहता था। वह स्वर्णकारी में काम आने वाला सिल्वर पॉलिश का काम करता था। हनुमंत (29) ने अपने किराए के मकान में पंखे पर साड़ी का फंदा बनाकर आत्महत्या कर ली। मंगलवार तड़के परिवार के लोगों ने उसे फंदे पर झूलते देखा। बाद में उसे राजकीय बगडिय़ा चिकित्सालय ले गए, जहां पर चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया।

ढाई साल का बेटा : माता-पिता का उठा साया
उधर,पति की मौत की खबर मिलने पर पत्नी राधा (25) ने भी जहरीले पदार्थ का सेवन कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। मृतक दम्पत्ती के साथ हनुमंत का भाई भी उसी मकान में किराए पर रहता है। हनुमन्त के शव को मृतक के भाई किशन, राधा व किशन की पत्नी ने मिलकर फंदे को कैंची से काटा। बाद में अस्पताल ले गए। दम्पती का ढाई साल का पुत्र सुरक्षित है।

शादी 7 दिसम्बर 2015 को हुई
पुलिस उप अधीक्षक नरेन्द्र शर्मा, सीआई मनोजकुमार भाटीवाड़, तहसीलदार रामचन्द्र गुर्जर ने घटनास्थल का जायजा लिया। पुलिस उप अधीक्षक शर्मा ने बताया कि दम्पती की आत्महत्या का प्रकरण प्रथम दृष्ट्या पति-पत्नी के बीच झगड़ा होना सामने आया। डीओ बजरंगसिंह ने मौके पर पहुंचकर दोनों शवों को मोर्चरी में रखवा दिया। मेडिकल बोर्ड ने शवों का पोस्टमार्टम कर परिजन को सौंप दिए। दम्पती की शादी 7 दिसम्बर 2015 को हुई थी। प्रकरण की जांच एसडीएम करेंगे।