>


नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एनएसयूआई की बैठक में कहा है कि अगर कोई पार्टी छोड़कर जाना चाहता है, तो वह किसी भी वक्त जा सकता है। इससे आप जैसे युवा नेताओं के लिए दरवाजे खुलते हैं। राहुल गांधी ने यह टिप्पणी उस समय की, जब सचिन पायलट और उनके करीबी मंत्रियों के खिलाफ राजस्थान में कार्रवाई की गई थी। हालांकि, अपनी इस टिप्पणी में राहुल ने सचिन पायलट समेत किसी नेता का सीधे नाम नहीं लिया। राजस्थान की राजनीति में मंगलवार दोपहर उस समय सचिन पायलट को करारा झटका लगा, जब कांग्रेस ने विधायक दल की बैठक में न आने के बाद उन्हें डिप्टी सीएम और प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटा दिया था। सचिन के साथ-साथ उनके करीबी दो मंत्रियों को भी मंत्रिमंडल से बाहर कर दिया गया था। पायलट को लेकर अटकलें लगाई जा रही थीं, कि वे बीजेपी का दामन थाम सकते हैं। हालांकि पायलट ने भाजपा में शामिल होने वाली बात को सरासर खारिज कर दिया है। पायलट ने भी साफ कहा है कि वह भाजपा में नहीं जाएंगे। उन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर कई आरोप लगाए हैं। इन सभी के बीच कांग्रेस के राजस्थान प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा है कि अगर सचिन पायलट माफी मांग लेते हैं, तो उनके लिए पार्टी के दरवाजे आज भी खुले है। उन्होंने कहा कि वह (सचिन पायलट) एक परिवार के सदस्य की तरह है, जो कभी भी अपने घर वापस जयपुर लौट सकते है।< दूसरी तरफ कांग्रेस ने बागी हो चुके सचिन पायलट को स्पष्ट संकेत देते हुए कहा है कि यदि वह भाजपा में नहीं जाना चाहते हैं, तो हरियाणा में भाजपा सरकार द्वारा किए जा रहे आतिथ्य को त्याग दें। इसके साथ ही उन्हें वापस अपने घर जयपुर लौट आना चाहिए। इतना ही नहीं कांग्रेस ने पायलट को याद दिलाया है कि नेता के रूप में उन्हें जितना प्रोत्साहन पार्टी ने दिया वैसा कांग्रेस या भाजपा में शायद ही किसी अन्य नेता को मिला हो। सचिन पायलट फिलहाल राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार से बगावत करने के बाद कुछ विधायकों के साथ हरियाणा के मानेसर के होटलों में रुके हुए हैं।<