>


इंदौर में प्रशासन ने सब्जी ठेला संचालकों को एक जगह पर खड़े होकर धंधा करने पर प्रतिबंध लगाया हुआ है. लेकिन बुधवार को जब निगम का अमला मालवा मिल स्थित सब्जी मंडी में कार्रवाई करने पहुंचा तो यहां एक महिला ने जबरदस्त विरोध किया. महिला के विरोध का यह तरीका सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. महिला ने फर्राटेदार इंग्लिश बोलकर निगमकर्मियों की बोलती बंद कर दी. इस महिला का नाम रईसा अंसारी है. रईसा, मालवा मिल के पास सब्जी का ठेला लगाती है. हैरान करने वाली बात यह है कि इसने पीएचडी कर रखी है लेकिन बावजूद इसके वो सड़क पर सब्जी का ठेला लगाती है.

रईसा का कहना है कि उसका परिवार करीब 60 वर्षों से यहां पर सब्जी का व्यवसाय करता है लेकिन अब नगर निगम के अधिकारी उसे यहां से हटाना चाहते हैं. अगर उसे यहां से हटा दिया गया तो उसके सामने परिवार को पालने का एक बड़ा संकट खड़ा हो जाएगा.

 

रईसा ने गुस्सा होकर कहा कि उसको पीएचडी करने के बाद भी कहीं नौकरी नहीं मिल रही है लिहाजा उसने तय किया है कि सब्जी बेचकर ही वो अपना घर चलाएगी. लेकिन कोरोना की आड़ में नगर निगम के अधिकारी उसे यह व्यवसाय भी नहीं करने दे रहे हैं.

 

रईसा के इस आक्रामक तेवर को देखकर नगर निगम के अमले को भी यहां से बेरंग ही लौटना पड़ा लेकिन रईसा जैसी महिला का इतनी पढ़ी-लिखी होने के बाद भी सब्जी बेचकर घर चलाना दूसरों के लिए एक बड़ा उदाहरण है.

रईसा ने बताया कि हमारे परिवार में 23 से 27 सदस्य हैं. अब अपने परिवार को कैसे खिलाऊंगी? इस बाएं और दाएं सिस्टम की वजह से हम अपने परिवार का भरण पोषण नहीं कर पा रहे हैं. यहां पर भीड़ नहीं, फिर भी कलेक्टर और निगम यहां खड़े होने की अनुमति नहीं देते. निगम ने यह कहते हुए भगा दिया कि यहां से चले जाओ.