जयपुर। राजस्थान विधानसभा के शुक्रवार से शुरू हुए सत्र के दौरान कुछ जि़लों के विधायक किसानों को टिड्डियों के हमले से हो रहे नुकसान का मामला लेकर पहुंचे। इन विधायकों ने अपने-अपने तरीके से किसानों का दर्द सरकार तक पहुंचाने की कोशिश की। ऐसे ही विधायकों में से बीकानेर से नोखा विधायक बिहारीलाल विश्नोई। भाजपा विधायक विश्नोई ने सदन में टिड्डियों का मुद्दा उठाने के लिए सिर पर टिड्डियों का टोकरा लेकर पहुंचे। उन्होनें पत्रकारों से बातचीत में कहा कि टिड्डी प्रभावित क्षेत्रों को आपदाग्रस्त क्षेत्र घोषित कर शीघ्र मुआवज़ा दिलाये जाए।विश्नोई के साथ ही कुछ अन्य विधायकों ने भी टिड्डी प्रभावित क्षेत्रों के किसानों को मुआवज़ा देने के लिए सरकार का ध्यान खींचा। दरअसल, बीकानेर जि़ले के कई क्षेत्रों के किसान टिड्डियों के हमलों से नुक्सान झेल रहे हैं। पिछले कुछ दिनों से पाकिस्तान की ओर से टिड्डियों का दल यहां आकर फसलों को खासा नुक्सान पहुंचा रहा है। किसान इन टिड्डियों को भगाने के लिए कई तरह के जतन करने को मजबूर हैं। टिड्डियों से बचाव के लिए किसान खेतों में या तो धुआं करते हैं या फिर पीपे और थाली बजा कर शोर करते हैं। कई जगहों पर किसान साइलेंसर उतारकर ट्रैक्टरों को भी दौड़ा रहे हैं। क्षेत्र में बरसात के कारण बारानी खेतों में चना फसल की बिजाई हुई थी। दो बार मावठ से किसानों को भरपूर फसल होने की आस थी। लेकिन टिड्डियों के फसलों पर बार-बार हमले करने से किसानों में मायूसी है। उन्होंने कहा कि टिड्डी प्रभावित किसानों को पूरा मुआवजा दिया जावें।