>


बीकानेर। जिले के लिखमीसर दिखनादा गांव में करंट की चपेट में आए व्यक्ति कि आज यहां इलाज के दौरान मौत हो गई। करंट की चपेट में आकर झुलसे मूलाराम मेघवाल का पीबीएम अस्पताल में इलाज चल रहा था।
मूलाराम की मौत के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने विद्युत जीएसएस कर्मचारियों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए जीएसएस का घेराव कर दिया और सिस्टम के विरोध में प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने जीएसएस पर मौजूद कार्मिकों को भी बंधक बना लिया।
किसान नेता विवेक माचरा की अगुवाई में ग्रामीणों ने प्रदर्शन करते हुए मृतक के परिवार को पांच लाख रुपए के मुआवजे और मृतक के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग सरकार से की। विवेक माचरा ने बताया कि विद्युत विभाग की लापरवाही के चलते यह सब हुआ है। दोषी कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।
जानकारी के अनुसार 3 दिन पहले मूलाराम मेघवाल जीएसएसएस से शटडाउन लेकर अपने खेत में विद्युत कार्य कर रहा था। इसी दौरान अचानक जीएसएस से बिजली सप्लाई ऑन कर दी गई जिससे मूलाराम को करंट लग गया और वह गंभीर रूप से झुलस गया था। झुलसी हालत में उसे पीबीएम अस्पताल ले जाया गया जहां इलाज के दौरान  उसकी मौत हो गई।