खूद चैयरमैन कलेक्टर ने किया दौरा तो गौर हाजिर मिले 14 अफसर, कर्मचारी, रिकॉर्ड रुम में जबरदस्त पोल सामने दिखी
बीकानेर। आमजन की प्राय: शिकायत रहती है कि नगर विकास न्यास में एक काम के लिए एक महिने तक लग जाता है क्योकि न्यास के कर्मचारी अपनी सीट पर नहीं बैठते है। लेकिन प्रशासन आमजन की नहीं सुनता है जब ये शिकायत न्यास के अध्यक्ष  कुमार गौतम पाल के पहुंची तो उन्होंने अपने ही विभाग का कर डाला निरीक्षण तो सामने जो आया वो देखकर कलेक्टर साहब का होश उड़ गये कि न्यास में करीब 14 अधिकारी व कर्मचारी अनुपस्थित मिले। कलेक्टर ने न्यास के सभी शाखाओं का निरीक्षण किया। न्यास कार्यालय में आमजन चक्कर काटते काटते थक जाते है लेकिन उनका काम नही होता है रोजाना कोई ना कोई अधिकारी व कर्मचारी बिना अवकाश लिये अवकाश पर चले जाते है कई कर्मचारी तो ऐसे है जो सिर्फ अपनी हाजिर लगाकर घर की ओर चले जाते है। इसका खामियाजा शहरवासियों को भुगतान पड़ता है। अब देखना ये है कि कलेक्टर साहब इन अनुपस्थित अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ क्या एक्शन लेते है। निरीक्षण के दौरानउन्हें दौरान 14 अधिकारी व कर्मचारी उन्हें अनुपस्थित मिले। इसमें कनिष्ठ अभियन्ता श्रवण चैधरी, अधिशाषी अभिन्यता याकूब भाटी, सहायक अभियन्ता कृष्ण गोपाल नागर, अधीक्षण अभियन्ता संजय माथुर, कनिष्ठ लिपिक नीलम किंगर, मुंशी श्रमती वर्षा सरीन व जयगोपाल,  कनिष्ठ लेखाकार निशान्त स्वामी व गणेश कलवाणी, कनिष्ठ अभियन्ता भजन लाल छीपा, श्रीमती मंजू कंवर, (विद्युत) शिव कुमार तथा सर्वेयर सुनील पाण्डे व रतन लाल व्यास अनुपस्थित मिले।उन्होंने नगर विकास न्यास के रिकार्ड रूम में रिकार्ड के संधारण बाबत जानकारी ली और निर्देश दिए सभी दस्तावेज विषयवार रखे जाए और रिकार्ड का डिजिटाईलेशन का काम शीघ्र प्रारंभ किया ताकि सारा रिकार्ड ऑन लाइन आमजन को सुलभ हो सके।भ्रमण के दौरान नगर विकास न्यास के सचिव मेघराज सिंह मीना, यूआईटी अधीक्षण अभियन्ता संजय माथुर, अषिशाषी अभियन्ता भंवरू खान, याकूब, सहायक अभियन्ता महेश व्यास, मक्खन आचार्य आदि उपस्थित रहे।
भड़ृके जिला कलेक्टर
निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने न्यास की हालात को देखकर बुरी तरह से भड़क गये उन्होने न्यास के सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को कड़ी फटकार लगते हुए सख्त लहजे में चेतावनी दी कि आमजन को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होनी चाहिए और समय से पहले अगर ऑफिस छोड़कर गये तो सख्त कार्यवाही होगी।