बीकानेर। जिले में लगातार बढ़ रहे सड़क हादसों को गंभीरता से लेते हुए ट्रेफिक पुलिस ने बीते साल 859 वाहन चालकों के लाईसेंस निरस्त कराये जो शराब पीकर,मोबाईब पर बातचीत करते हुए और हाईस्पीड में अपनी गाडिय़ा दौड़ा रहे थे। इनके सर्वाधिक तादाद शराबी वाहनों चालकों की सामने आई है। चौंकानें वाली बात तो यह है कि कई बार सड़क हादसों में मौत का शिकार हुए चालक शराब के नशे थे,लेकिन सोशल पुलिसिंग और बीमा के चलते शराब पीकर वाहन चलाने की बात पुलिस उजागर नहीं करती है। यातायात शाखा प्रभारी प्रदीप सिंह के मुताबिक शराब के नशे में होने के चलते दुर्घटना होना भी सबसे बड़ा कारण है। सड़क हादसों में वाहन चालक का ड्रिंक कर ड्राइविंग करते पाया जाना अधिकांशत:सामने आता है। पुलिस ने वाहन चैकिंग के दौरान गत वर्ष में 859 चालकों के लाईसेंस जब्त किये इनमें 582 ऐसे वाहन चालक थे,जो शराब पीकर,मोबाईल पर बातचीत करते हुए और ओवरस्पीट में गाड़ी चला रहे थे। जिनमें करीब 40 के आरटीओ से अनुशंषा कर लाइसेंस निरस्त करने की कार्रवाई की है।