>


खुलासा न्यूज़, बीकानेर। उच्च शिक्षा मंत्री एवं श्रीकोलायत विधायक भंवर सिंह भाटी ने मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत, कृषि मंत्री लालचन्द कटारिया एवं जिला कलक्टर बीकानेर कुमारपाल गौतम को पत्र के माध्यम से अवगत करवाया है कि श्रीकोलायत क्षेत्र के गज्जेवाला, फत्तुवाला, बांगड़सर, बज्जू क्षेत्र, गड़ियाला, गिराजसर, मोटासर, नगरासर, सेवड़ा, देवड़ों की ढाणी, मण्डाल चारणान, दियातरा, अक्कासर, भोलासर, बच्छासर आदि ग्रामों में अरबों-खरबों की संख्या में टिड्डी दल प्रवेश करने तथा उनके द्वारा फसलें तबाह करने से बेहाल किसानों की जानकारी देते हुये मांग की है कि टिड्डी दल को समाप्त करने हेतु एक उच्च स्तरीय अभियान प्रारम्भ किये जाने की आवश्यकता है जिसमें अतिरिक्त संसाधन, विशेषज्ञों की सेवायें व अतिरिक्त टीम भेजकर प्रभावित गांवों में ही रूक कर टिड्डी दल को नष्ट किया जावे तथा आवश्यकता होने पर हेलीकाॅप्टर का उपयोग भी दवा छिडकाव हेतु किया जावे क्योंकि प्रतिदिन टिड्डी दल निरन्तर फसलों का विनाश करते हुये अन्य गांवों की तरफ बढ़ रहा है जिससे किसानों में अफरा-तफरी एवं चिंता का माहौल पैदा हो गया है। यह समय टिड्डी दल के प्रजनन का भी है,यदि इसे नष्ट करने हेतु त्वरित कदम नहीं उठाये गये तो यह टिड्डी दल नियंत्रण से बाहर हो जायेगा तथा सूखे की मार झेल रहे किसान वर्ग के लिये जीवनयापन भी मुश्किल हो जायेगा।
भाटी ने चिन्ताग्रस्त किसानों को आश्वस्त करते हुये भरोसा दिलाया है कि सरकार पूर्णरूपेण इस समस्या के प्रति सजग है तथा उनके सहयोग हेतु हर समय तत्पर है एवं टिड्डी दल नष्ट करने हेतु विशेषज्ञों सहित टीम प्रभावित गांवों में रूक कर अभियान रूप में कार्य करेगी।
—–
टिड्डी दल के प्रकोप रोकने के लिए जिले में सतर्कता बरती जा रही है-जिला कलक्टर

खुलासा न्यूज़, बीकानेर। जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने जिले में टिड्डी दल के प्रकोप रोकने हेतु सतर्कता बरती जा रही हैं। पटवारी और ग्राम सेवकों को क्षेत्र में रहकर टिड्डी दल पर नजर रखने तथा इसकी जानकारी देने के लिए निर्देशित किया गया है। अभी तक टिड्डी को नियंत्रण करने के लिए 3 दल बनाएं गए थे,जिसे बढ़ाकर 6 कर दिया गया है। टिड्डी दल नियंत्रण कार्यालय के ये दल टिड्डी दल पर नियंत्रण के लिए कार्य कर रहे है और इन्हें सभी आवश्यक संसाधन दिए हुए है।
जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने यह जानकारी शनिवार को अपने निवास कार्यालय में संयुक्त निदेशक कृषि मंत्रालय भारत सरकार जे पी सिंह सहित स्थानीय कृषि विभाग के अधिकारियों के साथ हुई बैठक में दी। गौतम ने बताया कि बीकमपुर  व कोलायत क्षेत्र के कुछ गांवों में टिड्डी देखी गई है। इसे रोकने के लिए सम्पूर्ण व्यवस्था के साथ प्रभावी कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने कहा कि टिड्डी नियंत्रण के लिए रात के समय मं संबंधित विभाग को सभी आवश्यक साधन उपलब्ध कराए गए है। रात के समय फल्रड लाइट दी गई है। उन्होंने बताया कि जिले के सभी तहसील कार्यालय में नियंत्रण कक्ष स्थापित किए गए हैं। इनपर आमजन टिड्डी दल के बारे में जानकारी दे ताकि समय पर प्रभावी कार्यवाही हो सके। उन्होंने कहा कि सभी एसडीएम को भी इस संबंध में प्रभावी कार्यवाही हेतु पाबंद किया गया हैं। संयुक्त निदेशक कृषि जगदीश पूनिया ने बताया कि अभी तक जिले में मूंगफली और कपास की फसल को टिड्डी से कोई नुकशान नहीं हुआ है। उन्होंने कृषकों से कहा कि टिड्डी दल से डरने या घबराने की जरूरत नहीं है,सभी एजेन्सियां इसकी रोकथाम के लिए प्रभावी कार्यवाही में लगा हैं

कन्ट्रोल रूम-जिला कलक्टर ने बताया कि टिड्डी की सूचना देने के लिए टिड्डी नियंत्रण विभाग, संयुक्त निदेशक कृषि तथा उप निदेशक कृषि कार्यालय में नियंण कक्ष स्थापित किया गया है। टिड्डी नियंत्रण कार्यालय में स्थापित कन्ट्रोल रूम के प्रभारी धन्ने सिंह पूनिया है और दूरभाष नम्बर 0151-2202022 तथा मोबाइल नम्बर 8826052003 है। उन्होंने बताया कि उपनिदेशक कृषि कार्यालय में स्थापित कन्ट्रोल रूम के नम्बर 0151-2233834 और संयुक्त निदेशक कृषि जगदीश पूनिया के मोबाइल नम्बर 941455862 आमजन इन नम्बरों पर टिड्डी दल के बारे में जानकारी दे सकते है।