>


जयपुर। रक्षा बंधन का पर्व 3 अगस्त यानि श्रावण शुक्ल पूर्णिमा को मनाया जाएगा। इस दिन बहनें अपने भाइयों की कलाई पर रंग-बिरंगी राखियां बांध अपना स्नेह, आशीर्वाद और रक्षा की कामना करती हैं। ऐसे तो रक्षासूत्र के सभी रंग अच्छे होते हैं, यदि राशि के अनुसार रंग की राखी बांधी जाए तो वह भाई के लिए विशेष लाभदायी होता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार रक्षा सूत्र भाई की राशि के अनुरूप रंग की बांधी जाए तो इससे भाई और बहन के लिए शुभ रहता है। इसलिए बहनों को राशि के हिसाब से रंग का चयन कर भाइयों की कलाई पर राखी बांधनी चाहिए। शुभ मुहूर्त का रखे ध्यान ज्योतिषाचार्य सुरेश शास्त्री के अनुसार भाई-बहन के रिश्ते को अटूट बनाने के लिए इस रक्षा सूत्र बांधने का कार्य शुभ मुहूर्त में करना चाहिए। शास्त्री ने बताया की भाइयों की लंबी उम्र के लिए बहनों को शुभ समय के साथ साथ राखी के रंगों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। जब भी कोई कार्य शुभ समय में किया जाता है, तो उस कार्य की शुभता में वृद्धि होती है और निश्चिततौर पर फल मिलता है। शास्त्रों के अनुसार में भद्रा के पूंछ काल में कार्य करने से कार्यसिद्धि और विजय प्राप्त होती है।

राशि के अनुसार राखी का रंग
मेष- लाल रंग की राखी बांधे।वृषभ- क्रीम कलर की राखी ।
मिथुन- हरे रंग की राखी ।कर्क- क्रीम या सफेद रंग की राखी । सिंह- नारंगी रंग की राखी । कन्या- हरे रंग की राखी । तुला- क्रीम कलर की राखी । वृश्चिक- लाल रंग की राखी । धनु- सुनहरे पीले रंग की राखी । मकर- नीले रंग की राखी । कुंभ- नीले रंग की राखी । मीन- सुनहरे पीले रंग की राखी।
यदि भाइयों को अपनी बहन न हो, तो वह मित्र की बहन या ब्राह्मण से राखी बंधाए और यदि कोई बहन को भाई न हो तो वह श्रीकृष्ण भगवान को राखी बांधें।