>


कुछ अपने घर को वास्तुशास्त्र के हिसाब से बनवाते और सजाते हैं. वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जिनका इस पर विश्वास नहीं होता है. वास्तुशास्त्र का संबंध एक तरह की ऊर्जा से होता है जिसे घर की सुख-समृद्धि का प्रतीक माना जाता है. कई वैज्ञानिक भी अच्छी और बुरी ऊर्जा के संबंध में वास्तुशास्त्र की ताकत को मानते हैं. वास्तुशास्त्र के कुछ नियमों का पालन कर आप भी अपने घर में सुख-शांति ला सकते हैं. इसके लिए अपने घर से उन चीजों को हटाएं जो वास्तुशास्त्र के हिसाब से अच्छी नहीं मानी जाती हैं.

 

डूबती हुई नाव

घर में कभी भी डूबती हुई नाव का कोई चित्र नहीं लगाना चाहिए. डूबती नाव को पतन का प्रतीक माना जाता है. वास्तुशास्त्र के हिसाब घर में डूबती हुई नाव की पेंटिंग लगाने से घर के सदस्यों के बीच दूरियां बढ़ने लगती हैं. अगर आपके घर में ऐसी कोई तस्वीर लगी है तो उसे हटा दें.

जंगली जानवरों या पक्षियों की पेंटिग्स

सुअर, सांप, बाज, उल्लू, चमगादड़, गिद्ध, कबूतर, कौआ जैसे जानवरों और पक्षियों की मूर्तियां या पेंटिग्स घर में नहीं लगानी चाहिए. कहा जाता है कि जंगली जानवरों की तस्वीर लगाने से घर के सदस्यों में हिंसक प्रवृत्ति बढ़ती है. घर के बेडरूम में सिंगल बर्ड वाली तस्वीरें बिल्कुल भी ना लगाएं.

 

कारात्मक तस्वीरें
दुख या उदासी वाली पेंटिंग्स या तस्वीरें घर में नहीं लगानी चाहिए. वास्तुशास्त्र के हिसाब से ऐसी पेंटिंग्स जिंदगी में डिप्रेशन लाती हैं.

इमली का पेड़

माना जाता है कि इमली और मेंहदी के पेड़ में बुरी आत्माओं का निवास होता है. ऐसे पौधों के आस-पास घर नहीं होना चाहिए. घर में नकारात्मक ऊर्जा आती है.

 

सूखे हुए फूल

कहा जाता है कि घर में  सूखा हुआ पौधा या फूल नहीं रखना चाहिए. वास्तुशास्त्र के हिसाब से सूखे फूल घर में नकारात्मक ऊर्जा लाते हैं. कंटीले पेड़ों को भी घर में नहीं लगाना चाहिए.

 

टूटी हुई मूर्तियां, फर्नीचर या शीशा

टूटे हुए ग्लास, फर्नीचर, टूटा शीशा या भगवान की फटी हुई तस्वीरें घर में हो तो इन्हें तुरंत घर से हटा दें. ये चीजें घर में दरिद्रता लेकर आती हैं.

नटराज
नटराज नृत्य का ही रूप है. हालांकि इसके साथ ही यह विनाश का भी प्रतीक है. इसे तांडव नृत्य भी कहा जाता है. इसलिए नटराज का शोपीस या तस्वीर घर में नहीं रखनी चाहिए.

 

कैक्टस या कंटीले पौधे
घर में कैक्टस का पौधा नहीं रखना चाहिए. इससे व्यापार और धन वृद्धि में भी बाधा आती है.

 

ताजमहल

शोपीस या तस्वीर के तौर पर ताजमहल घर में नहीं रखना चाहिए. यह एक कब्रगाह है और मृत्यु का प्रतीक है. लोग भले ही इसे प्यार का प्रतीक मानते हों लेकिन असल में यह मुगल बादशाह शाहजहां की पत्नी मुमताज की कब्र है. इसलिए यह मौत और दुख की निशानी भी है. ऐसा माना जाता है ये घर में नकारात्मक प्रभाव लाती है.

 

युद्ध की तस्वीरें
घर में भूलकर भी किसी युद्ध की तस्वीरें नहीं रखें. वास्तुशास्त्र प्राचीन महाकाव्य महाभारत और रामायण के युद्ध चित्रों को रखने की अनुमति नहीं देता है. ऐसी तस्वीरों से घर के सदस्यों के बीच मतभेद उत्पन्न होते हैं और घर में कलह होती है.

फव्वारा
फव्वारा भले ही देखने में खूबसूरत लगता हो लेकिन वास्तु के हिसाब से इसे घर के भीतर नहीं होना चाहिए. कहा जाता है कि इससे धन की हानि होती है.