>


खुलासा न्यूज, बीकानेर/ जयपुर/ कोटा। प्रदेश में कोरोना का कहर जारी है। कोटा कोविड अस्पताल में रोगियों को भर्ती करने की ज्यादा क्षमता नहीं बची है। शनिवार को कोटा में एक दिन में 217 कोविड रोगी मिलने से हड़कंप मंच गया। इसलिए प्रशासन ने रविवार के अलावा लगातार 48 घंटे का लॉकडाउन लगाने का निर्णय किया है। कोटा जिला कलक्टर उज्जवल राठौड़ ने 4 और 5 अगस्त को लॉकडाउन के आदेश जारी किए हैं। इस दौरान दूध डेयरी, सब्जी सप्लाई, अस्पताल, नर्सिंग होम, पेट्रोल पंप जैसी आवश्यक सेवाएं खुली रहेंगी। इन्हें लॉकडाउन से मुक्त रखा गया है। गम्भीर बीमार व्यक्ति चिकित्सक की पर्ची के साथ अस्पताल में आ-जा सकेंगे। सरकारी कार्यालय में कार्मिक आईडी कार्ड के साथ सुबह 9 से 11 बजे शाम 5 से 7 बजे तक आ सकेगे और जा सकेंगे।

सार्वजनिक परिवहन बंद रहेगा
अति आवश्यक कार्य से शहर से बाहर जाने वाले व्यक्तिों को किसी प्रकार के पास की आवश्यकता नही होगी। शहर में आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। शहर के पार्कों में सुबह 10 बजे तक कोरोना प्रोटोकॉल की पालना के साथ भ्रमण किया जा सकेगा उसके बाद बन्द रहेंगे। शहर की थोक सब्जीमंडी में अब केवल थोक सब्जी क्रेता ही आ सकेंगे। आमजन व फुटकर विक्रेताओं का प्रवेश बन्द रहेगा। शराब की दुकान आबकारी विभाग के नियमानुसार खुली रहेंगी।जिला कलक्टर उज्जवल राठौड़ की अध्यक्षता में हुई बैठक में सभी अधिकारियों ने इस पर सहमति जताई। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक शहर गौरव यादव, अतिरिक्त कलक्टर प्रशासन नरेंद्र गुप्ता, शहर आरडी मीना, आयुक्त नगर निगम वासुदेव मालावत, कीर्ति राठौड़, जिला परिषद सीईओ टीकमचंद बोहरा, यूआईटी सचिव राजेन्द्र सिंह कैन, प्राचार्य मेडिकल कॉलेज डॉ विजय सरदाना, सीएमएचओ डॉ भूपेंद्र सिंह तंवर सहित सम्बंधित अधिकारी रहे मौजूद रहे।

बीकानेर का कोरोना मीटर: प्रशासन की बढ़ी चिंता
कोरोना संक्रमण तेजी से बढऩे पर प्रशासन की चिंता बढ़ गई है। आज दिनभर में 77 कोरोना पॉजीटिव केस आए और एक डेडबॉडी का सैंपल पॉजीटिव आया। लगातार संक्रमण बढ़ रहा है। स्थिति यह कि अब कोरोना ने हर जगह पर अपना पांव पसार चुका है। प्रशासन के अथक प्रयासों के बावजूद भी इसकी चैन नहीं टूट पा रही है। चिंता की बात यह कि जिले में कोरोना से मौतों का ग्राफ भी लगातार बढ़ रहा है। अब तक जिले में 47 मौत हो चुकी है। सीएमएचओ डॉ. बी.एल.मीणा ने बताया कि जिले में कोरोना पॉजीटिव मरीजों का ग्राफ बढ़कर 2110 जा पहुंचा है। सुखद खबर यह है कि बड़ी तादाद में पॉजीटिव मरीज नेगेटिव भी हो रहे हैं अब एक्टिव केस 564 ही बचे हैं।