>

खुलासा न्यूज़, बीकानेर। मध्यप्रेदश में सत्ता को बचाने की कमान प्रदेश के मुख्या अशोक गहलोत के पास है। इस चक्कर में गहलोत को राजस्थान की सत्ता बचाने के लिए भी प्रयास करने पड़ सकते है। राज्यसभा सीट के लिए केसी वेणुगोपाल और नीरज डांगी का नाम चलने के बाद ऐसा माना जा रहा है कि कांग्रेस की राजस्थान राजनीति में कोई बड़ा परिवर्तन होने वाला है। एक संभावना जहां अशोक गहलोत को फिर से केंद्र की राजनीति में भेजने की तैयारी शुरू हो गई है। ऐसे में सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाना और रामेश्वर डूडी को प्रदेशाध्यक्ष बनाने की संभावना भी है। मध्यप्रदेश के घटनाक्रम के बाद राजस्थान को लेकर केंद्रीय नेतृत्व चिंतित है। यह बात बार-बार उठाई जा रही है कि अशोक गहलोत की जरूरत राजस्थान से अधिक देश को है। बता दें, रामेश्वर डूडी खुद पिछले लगभग 12 दिनों से दिल्ली में है ओर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से संपर्क बनाए हुए है। राज्यसभा सीट के लिए डूडी का नाम नहीं आने के कारण सियासत गरमा गई है। राजनीतिज्ञों का मानना है कि राजस्थान की राजनीति में बड़ा फेरबदल होने वाला है। इस फेरबदल में डूडी समर्थकों को बड़ी खुशखबरी मिल सकती है।