>


जयपुर। विधानसभा सत्र के दौरान पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट गुट के रुख पर सस्पेंस बरकरार है। इस बीच पायलट कैम्प के समर्थित विधायक गजेन्द्र सिंह शक्तावत ने साफ़ किया है कि पायलट समर्थित सभी विधायक विधानसभा सत्र में शामिल होंगे। हालांकि सदन में सरकार के विश्वासमत हासिल करने के लिए फ्लोर टेस्ट होने की संभावना पर उन्होंने कहा कि इसका आखिरी फैसला सचिन पायलट ही तय करेंगे।

‘सत्र में ज़रूर होंगे शामिल’
विधायक गजेन्द्र सिंह शक्तावत ने एक मीडिया चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि ‘हम सत्र में ज़रूर आयेंगे, हमनें कभी पार्टी के खिलाफ कोई स्टेटमेंट थोड़े ही दिया है, पार्टी में हैं पार्टी में रहकर बात करेंगे, हमारी बात सुनें, हम पार्टी हाईकमान से यही बात करने आये हैं।’

‘पायलट का रहेगा आखिरी फैसला, हम उनके साथ’

फ्लोर टेस्ट होने की स्थिति के सवाल पर ‘बगावती’ विधायक ने कहा, ‘ये फैसला सचिन पायलट साहब का है, हम तो सचिन पायलट पर विश्वास करते हैं, उनके साथ खड़े हैं और उनके साथ ही खड़े रहेंगे।’ ‘जितनी आवश्यकता उतने विधायक हमारे पास’ शक्तावत ने कहा कि पायलट गुट में फिलहाल 19 विधायक मौजूद हैं। सभी हरियाणा स्थित एक रिजोर्ट में कैम्प कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जितनी आवश्यकता है उतने विधायक हमारे पास मौजूद हैं। साथी ही ये भी कहा गहलोत गुट के कुछ विधायक भी उनके संपर्क में हैं। उन्होंने कहा कि यदि सरकार सुरक्षित है तो विधायकों को इस तरह से जैसलमेर क्यों शिफ्ट किया गया है?

‘मान-सम्मान की लड़ाई में हम सब एकजुटÓ
विधायक शक्तावत ने कहा कि पायलट कैम्प में मौजूद सभी विधायक इस मान-सम्मान की लड़ाई में एकजुट हैं। मुख्यमंत्री के बयानों पर नाराजगी जताते हुए शक्तावत ने कहा, ‘आज हमारे नेता को निकम्मा-नकारा कहा जा रहा है, हमारे घर पर आधी रात को नोटिस करवाए जा रहे हैं, जबकि हम तो सरकार के साथ हैं पार्टी के साथ हैं।Ó