खुलासा न्यूज़, बीकानेर। शहर के बदहाल हालात व निगम में कथित भ्रष्टाचार को लेकर कांग्रेसी पार्षदों की मीटिंग रविवार को नेता प्रतिपक्ष जावेद पडि़हार की अध्यक्षता में हुई। इसमें वक्ताओं ने कहा कि मानसून पूर्व नालों को ढकवाने का कार्य होना चाहिए था लेकिन निगम तथा ठेकेदार ने मिलीभगत कर कार्य अधूरा छोड़ दिया। ऐसे में जनहानि की आशंका बनी हुई है। गंगाशहर में आरयूआईडीपी के काम धीमी गति से होने से आमजन परेशान है। इसके लिए जवाबदेही तय होनी चाहिए। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि शहर में अधिकांश स्थानों पर लम्बे समय से रोडलाइटें बंद पड़ी है। निगम प्रशासन संबंधित फर्म के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रहा है। सीवरेज का कार्य बंद होने पर वक्ताओं ने रोष जताते हुए कहा कि अमृत सीवरेज योजना में बड़े स्तर पर भ्रष्टाचार हो रहा है। इस संबंध में जिला कलक्टर को भी पहले अवगत करा चुके हैं लेकिन कोई कठोर कार्रवाई नहीं हुई।

जावेद ने आरोप लगाया कि महापौर के इशारे पर राज्य सरकार की छवि को खराब करने के लिए भाजपा मानसिकता वाले अधिकारी-कर्मचारी आमजन को गलत संदेश दे रहे हैं, जिससे सरकार के प्रति लोगों में गलत धारणा बनने लगी है। उन्होंने कहा कि महापौर से लेकर अधिकारियों तक विकास कार्यों में भ्रष्टाचार किया जा रहा है। आरोप लगाया गया कि नगर निगम के अलावा नगर विकास न्यास व सार्वजनिक निर्माण विभाग विकास कार्यों में कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हैं। इन सभी समस्याओं को लेकर सोमवार को आयुक्त को ज्ञापन देकर अवगत कराया जाएगा।

सीएम से करेंगे शिकायत
सरकार की छवि खराब करने वाले निगम के कथित भ्रष्ट अधिकारियों की सूची बनाकर शीघ्र ही जयपुर में मुख्यमंत्री, नगरीय विकास मंत्री आदि से मिलकर प्रतिनिधि मंडल अवगत कराएगा।

ये रहे बैठक में शामिल
लम्बे समय बाद हुई कांग्रेसी पार्षदों की बैठक में पार्षद हजारी देवड़ा, सहाबुद्दीन भुट्टा, अकबर अली खादी, नंदू जावा, नंदू गहलोत, फारूक भाटी, आदर्श शर्मा, अख्तर कलीम, मनोज कुमार नायक, अनवर छींपा, समीरउल्लाह आदि शामिल थे।