>


खुलासा न्यूज़, बीकानेर। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट शुक्रवार को पेश हुआ। बजट की खास बातें रही कि बजट 2019 भारत की पहली महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पेश किया। साथ ही ब्रीफकेस में बजट रखकर लाने की पुरानी परंपरा को खत्म कर एक बही में बजट पेश किया। सरकार का ये जट गरीब किसान, महिलाए और छोटे व्यापारियों पर रहा। वहीं राजस्थान सरकार ने प्रदेश के नजएि से केन्द्रीय आम बजट को निराशजनक बताया।
बजट में हुई घोषणा को लेकर खुलासा न्यूज़ ने बीकानेरवासियों से भी प्रतिक्रिया ली। प्रतिक्रिया मिली- जुली सी रही।

आप भी देखिएं बीकानेरवासियों की प्रतिक्रिया–

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में आज वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट प्रस्तुत किया । इसमें गांव, गरीब और किसान-कल्याण पर विशेष ध्यान दिया गया है, जैसे हर परिवार को मकान और हर घर तक पानी पहुंचाने का संकल्प लिया गया है । लोगों ने हर घर को बिजली और गैस को पहुंचते देखा है और अब वे स्वच्छ पेयजल को पहुंचता देखेंगे । बजट में और भी शानदार व्यवस्थाएं की गई है और यह पूर्णत: लोक हितकारी बजट है ।
– बिहारीलाल बिश्नोई, विधायक नोखा एवं जिलाध्यक्ष भाजपा बीकानेर देहात

———–

मोदी सरकार 2 के जो प्रथम बजट पेश किया उससे ग्रामीण अंचल में विकास की ओर ऐतिहासिक कदम है। 2024 तक घर घर जल घर घर नल इससे गांव में लोगों को स्वच्छ जल मिलेगा इससे ग्रामीण लोगों को सुद्ध जल सीधे घरो में पीने को मिलेगा । 114 दिन में बनेंगे प्रधानमंत्री आवास और 2022 तक सभी को मकान का लक्ष्य है जिसमें 1 करोड 95 लाख मकानों का निर्माण होगा।
– सुमित गोदारा, विधायक, लूनकरणसर
———————

बजट पर वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण की प्रसंशा करते हुए कहा वितमंत्री जी ने हर घर बिजली और हर घर गैस व टॉयलेट पहुंचाने की बात कही ये नारी शक्ति के लिए महत्वपूर्ण तोहफा है नारी तू नारायणी योजना से महिलाओं को लाभ मिलेगा। इसके साथ युवाओं की शिक्षा को लेकर 400 करोड़ के विश्व स्तरीय संस्थान बनाये जाने से युवाओं को अपने ही देश मे उच्चस्तरीय शिक्षा मिलना एक अहम योगदान है।
– सिद्धि कुमारी, विधायक, बीकानेर पूर्व

————–

केन्द्र सरकार में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन जी द्वारा प्रस्तुत बजट को आम आदमी, किसान, युवा व सभी वर्गो के हितो वाला संतुलित बजट है। सरकार द्वारा युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने हेतु मुद्रा योजना व स्टार्टअप के लिए युवाओं को प्रेरित करने हेतु टी.वी. चैनल की योजना बेहतर है। राष्ट्रीय खेल शिक्षा बोर्ड का गठन कर देश को खेलो में अग्रणी स्थान पर लाने का बेहतर प्रयास साथ ही एक करोड़ छात्रों को स्किल योजना के तहत प्रषिक्षण दिया जाने का प्रयास भी सराहनीय है।
– डॉ. गोपाल जोशी, पूर्व विधायक बीकानेर (पश्चिम)
———————

मोदी सरकार का बजट स्वागतयोग्य है। गांव, गरीब और किसान-कल्याण पर विशेष ध्यान दिया गया है, जैसे हर परिवार को मकान और हर घर तक पानी पहुंचाने का संकल्प लिया गया है ।राष्ट्रीय खेल शिक्षा बोर्ड का गठन कर देश को खेलो में अग्रणी स्थान पर लाने का बेहतर प्रयास साथ ही एक करोड़ छात्रों को स्किल योजना के तहत प्रषिक्षण दिया जाने का प्रयास भी सराहनीय है।
– तोलाराम जाखड़, भाजपा नेता

——————

वित्तमंत्री भारत सरकार श्रीमती निर्मला सीतारमण ने आज आम बजट संसद में पेश किया आज के बजट में ,गांव,किसान,युवा,मजदुर,महिला ,स्किल डॉवलेपमेंट,मध्यम एंव छोटे उधमियों को राहत देने जैसे मुख्य बिन्दु को ध्यान रखकर एक बेहतरीन व् संतुलित बजट पेश किया गया है, इससे आने वाले समय में देश के विकास को गति मिलेगी।
– मनीष सोनी, जिला प्रवक्ता, भाजपा बीकानेर शहर
———–

सरकार ने बजट में सांइस एंव तकनीकी के लिए 12 हजार सात सौ 96 करोड़ रुपए दिए हैं। इससे इस क्षेत्र को काफी बढ़ावा मिलेगा। देश के एक लाख गांवों को डिजीटल गांव बनाने की घोषणा की है। विशेष टीवी चैनल से स्टार्टअप के बारे में जानकारी उपलब्ध कराने की बात कही है। यह अच्छा कदम है।
– सीए श्रीकांत ओझा

—————

गरीबो को 2022 तक पक्का मकानों का निर्माण,हर गांव तक सड़क,के साथ हर वर्ग का ध्यान रखते हुए ऐतिहासिक बजट पेश किया है । वित्तमंत्री जी को धन्यवाद देता हूं यह बजट देश में सामाजिक-आर्थिक बदलाव लाने वाला होगा भारत को 5 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी बनाने में मदद करेगा।
– भंवरलाल जांगिड़, भाजपा नेता

———————

श्रमिकों के लिए जनकल्याणकारी योजनाएं एवं छोटे व्यापारियों को पेंशन देने का प्रावधान अच्छा है। कम समय में घर बनाने सहित तमाम घोषणा की गई है।
– सुशील बंसल, व्यवसायी

——————–

बजट में अर्थव्यवस्था के विकास, रोजगार सृजित करने का निवेश को बढ़ाने के लिए कोई ठोस योजना या समाधान नहीं है। चिकित्सा व्यवस्था व शिक्षा पर भी ध्यान नहीं दिया गया है। कुल मिलाकर नया कुछ भी नहीं है।
– महिपाल सारस्वत, कांग्रेस नेता, विचारक

——————

बजट में महिलाओं को लेकर गृह ऋण में जो छूट दी गई है। वह अच्छा कदम है। इससे महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा मिलेगा एवं जिन महिलाओं के आशियाने का सपना है वह पूरा हो सकेगा। साथ ही युवाओं की शिक्षा को लेकर 400 करोड़ के विश्व स्तरीय संस्थान बनाये जाने से युवाओं को अपने ही देश मे उच्चस्तरीय शिक्षा मिलना एक अहम योगदान है।
– राधा, शिक्षाविद्


बजट में नया कुछ भी नही है। नई पैकिंग मेें पुराना सामान भरा हुआ है। राजस्थान के लिए तो कुछ भी खास नही है, बीकानेर के लिए तो इस बजट में बिलकूल भी नही है। यहां तक कि एनडीए सरकार की ओर से पिछले कार्यकाल में घोषित लूनकरणसर में तेल भण्डारण ऑयल रिजर्वायर की स्थापना के लिए फूटी कोडी तक नही दी गई है। गरीबों और किसानों को फिर भूुलावें में रखा गया और इस बजट में आम आदमी के लिए कुछ नही है। महिला वित्त मंत्री होने के बावजूद महिलाओं की उपेक्षा की गई है।
– अरूण व्यास, युवा कांग्रेस नेता


केन्द्रीय बजट में समाज के सभी वर्गों को साधने का प्रयास किया गया है। समाज के कमजोर तबके के वे लोग जो दिन भर कड़ा श्रम करके दो जून की रोटी कमाते हैं। उनके लिए सरकार द्वारा लागू की गई योजना को समयबद्ध तरीके से धरातल पर मूर्त रूप दिया गया तो श्रमिकों को काफी मिल सकेगा ।
– राजा रणवीरसिंह

—————-

बजट में छोटे व्यापारियों को पेंशन देने संबंधी घोषणा स्वागत योग्य है। छोटे व्यापारी वर्ग का आज तक कभी ध्यान नहीं रखा गया। सरकार के इस कदम से छोटे व्यापारियों को काफी फायदा होगा। साथ ही युवाओं की शिक्षा को लेकर 400 करोड़ के विश्व स्तरीय संस्थान बनाये जाने से युवाओं को अपने ही देश मे उच्चस्तरीय शिक्षा मिलना एक अहम योगदान है।
– रौचक गुप्ता, शिक्षाविद्, शिक्षा हाई स्कूल

———–

एनडीए सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट निराशाजनक है। बजट में अर्थव्यवस्था के विकास, रोजगार सृजित करने या निवेश को बढ़ाने के लिए कोई ठोस योजना या समाधान नहीं है। अर्थव्यवस्था के विकास में तेजी लाने, रोजगार सृजित करने या निवेश के प्रवाह को बढ़ाने के लिए कोई ठोस योजना या समाधान नहीं है।
– साजिद सुल्लेमानी, कांग्रेस नेता

—————–

मोदी सरकार का बजट निराशजनक है। यह बजट किसान विरोधी है। किसानों के हित में कोई बड़ी घोषणाएं नहीं की है। गांव, गरीब और किसान सिर्फ नारे-दावे बनकर रह गए हैं, इनके समस्याओं पर कोई ध्यान नहीं दिया गया है।
– भागीरथ जाखड़, किसान नेता

—————-