>


पूरानी पेंशन बहाली राष्ट्रीय आंदोलन(NMOPS) की

जयपूर में 30 जुन को प्रान्तीय बैठक में लिये गये निर्णय

खुलासा न्यूज़, बीकानेर।  नेशनल मूवमेंट फार ओल्ड पेंशन स्कीम(NMOPS) की प्रदेश कार्यकारिणी की जयपुर में आयोजित बैठक में पूरानी पेंशंन बहाली के लिये अन्दोलन को तेज करने का निर्णय लिया गया ।  प्रान्तीय बैठक में बीकानेर से Nmops के प्रदेश संयोजक कोजाराम सियाग,जिला संयोजक देवेन्द्र जखाड़,नोखा ब्लॉक संयोजक-कानाराम मान्झू,ब्लॉक सहसंयोज्क -हारण कुरेशी,बीकानेर ब्लॉक संयोजक सोहन कूकणा,NMOPS के रेसला प्रतिनिधि राकेश गोदारा व पाँचू ब्लॉक प्रतिनिधि रामनिवास गोदरा! NMOPS के महासचिव जगदीश यादव ने बैठक का संचालन करते हुए आंदोलन के लिये बैठक में एजेण्डे को प्रस्तूत कीया व नरेन्द्र फोगाट ने बैठक की अध्यक्षता की!
बैठक को सम्बोधित करते हुए प्रदेश संयोजक कोजाराम सियाग ने राज्य में पूरानी पेंशन बहाली के लिये प्रत्येक कर्मचारी से एकजुट होकर संघर्ष करने की आवश्यक्ता पर बल देते हुए तमाम कर्मचारी संगठनो से आन्दोलन में भागीदारी व सहयोग का आह्वान कीया! NPS योजना को एक मिच्युअल फंड योजना बताते हुए इसे एक घातक कदम बताकर भारत के राजस्व की सुनियोजित लूट बताया जिसके खिलाफ NMOPS आखिल भारतीय व राज्य स्तर पर आन्दोलन कर रहा है!
प्रान्तीय बैठक में बीकानेर के जिला संयोजक देवेन्द्र जाखड़ ने विचार रखते हुए NPS योजना को पूंजीवादी ताकतों के दबाव में लिया गया फैसला बताया-बीकानेर से कानाराम मान्झू,हारून कुरेशी ने भी अपने विचार रखे!
बैठक को वरिष्ठ उपाध्यक्ष जयकारण खिलेरी,सह अध्यक्ष भरूं राम चौधरी,संगठन सचिव राजेन्द्र सिंह राठौड़,सचिव मोहन लाल एचरा व ठाकरा राम जाट ने भी सम्बोधित कीया!
आगामी शहरी व पंचायत चुनाव को देखते हुए बैठक में आन्दोलन की निम्न प्रकार से रूपरेखा तैयार की –
निर्णय तथा संकल्प
—————————————
05 जुलाई 2019 को ब्लॉक स्तर पर प्रदर्शन करते हुए PM तथा CM के नाम SDM/ तहसीलदार को ज्ञापन।
08 अगस्त 2019 को अंग्रेजों भारत छोड़ो अभियान की तर्ज पर “NPS भारत छोड़ो अभियान” के तहत सभी जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन तथा जिला कलेक्टर को राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपाल तथा मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन।
05 सितंबर 2019 को शिक्षक दिवस पर PM/CM को “NPS के संबंध में ज्ञान चक्षु खोलों” अभियान के तहत स्कूल/कार्यालय स्तर पर पोस्ट कार्ड व हस्ताक्षर अभियान।
02 अक्टूबर 2019 गांधी जयंती पर “रक्त से बढ़कर है पुरानी पेंशन” अभियान के तहत मौन सत्याग्रह करते हुए ब्लॉक/जिला मुख्यालय पर रक्तदान।
31अक्टूबर 2019 को संकल्प दिवस पर पुरानी पेंशन बहाली संकल्प दिवस के रूप में संकल्प लेते हुए स्कूल/कार्यालय मुखिया के मार्फत CM/PM तथा राष्ट्रपति व राज्यपाल को संकल्प पत्र भेजा जाएगा। प्रदेश महामंत्री जगदीश यादव ने बताया कि इसके साथ ही सभी कर्मचारी यूनियनों को एक मंच पर लाने, सत्ता पक्ष को पुरानी पेंशन बहाली के लिये तैयार करने, प्रतिपक्ष को मुद्दे के साथ लाने की रणनीति पर भी विचार विमर्श हुआ। तथा 31 जुलाई 2019 तक ब्लॉक, जिला, संभाग कार्यकारिणी पुनर्गठन का निर्णय भी लिया गया। उसके बाद प्रदेश कार्यकारिणी का भी विस्तार कीया जाएगा!