>


बीकानेर। राजस्थान वरिष्ठ शिक्षक संघ (रेस्टा) के प्रतिनिधिमंडल ने प्रदेशाध्यक्ष भैरूराम चौधरी के नेतृत्व में राज्य के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा से मुलाकात कर उनके निवास पर ज्ञापन दिया,प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष मोहरसिंह सलावद ने बताया कि इस मौके पर संघ की ओर से शिक्षा मंत्री से माध्यमिक शिक्षा में स्टाफिंग पैटर्न की जल्द समीक्षा करवाकर राज्य के उच्च माध्यमिक विद्यालयों में अनिवार्य हिंदी एवं अंग्रेजी व्याख्याता के पद स्वकृत करने की मांग की गई जिस पर मंत्री ने इसके लिए जल्द ही बैठकर विस्तृत कार्ययोजना बनाने एवं उसमे रेस्टा को भी आमंत्रित करके जल्द स्टाफिंग पैटर्न लागू करने की बात कही साथ ही वरिष्ठता विलोपन में वरिष्ठ अध्यापक के पद को स्टेट लेवल का जल्द नोटिफाई करने का आश्वाशन दिया इस मौके पर संघ की ओर से राजस्थान सरकार के शिक्षा मंत्री द्वारा शिक्षक और शिक्षार्थी हित में लिए गए ऐतिहासिक निर्णयों लेने पर हार्दिक अभिनंदन व धन्यवाद ज्ञापित किया गयाशिक्षा मन्त्री द्वारा लिए गए ऐतिहासिक निर्णय ,राजस्थान की भौगोलिक परिस्थितियों के अनुसार विद्यालय समय अपनी पूर्ववर्ती सरकार के अनुसार किया गया ,वरिष्ठ अध्यापकों की बहुत ही महत्वपूर्ण माँग ग्रीष्मकालीन आवासीय कैंप निरस्त कर गृह जिले में गैर आवासीय प्रशिक्षण लागू करवाये ,वर्षों से लंबित परियोजनाओं का मंडल स्तर पर कैंप लगावाकर व्यक्तिगत सुनवाई द्वारा निस्तारण करवाया ,शिक्षक, छात्र व स्कूल की समस्याओं के ऑनलाइन समाधान हेतु “शाला दर्पण इंटीग्रेटेड पोर्टल” की शुरुआत की गई ,प्रारंभिक शिक्षा में तुरंत स्टाफिंग पैटर्न लागू कर नामांकन अनुसार पदों का निर्धारण व समानीकरण किया गया , शिक्षा मंत्री महोदय स्वागत में गुलदस्ता लेने की बजाय एक पेड़ भेंट लेने की शानदार पहल की शुरुआत की ,प्रत्येक जिला स्तर पर अंग्रेजी माध्यम के सरकारी स्कूल की शुरुआत , तबादले के लिए ऑनलाइन आवेदन के लिए शाला दर्पण पोर्टल का उपयोग से शिक्षकों को इधर उधर चक्कर काटने से राहत दिलवाई । प्रतिनिधिमंडल में प्रदेशाध्यक्ष भैरू राम चौधरी, प्रदेश विशिष्ट उपाध्यक्ष भीवाराम जाखड़, प्रदेश प्रचार मंत्री मनीष कालेर,पूर्व मीडिया चेयरमैन साधुराम गुर्जर आदि मौजूद रहे।