>


स्वास्थ्य मंत्रालय ने बयान जारी कर दी चेतावनी
देश में कोरोना 15 लाख से ज्यादा कोरोना के मामले सामने आ चुके हैं
नई दिल्ली। कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर हर रोज नई जानकारियां सामने आ रही हैं। हवा से इस जानलेवा वायरस के फैलने की विश्व स्वास्थ्य संगठन की पुष्टि के बाद अब केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने स्मोकिंग करने वाले लोगों को चेतावनी जारी की है। अभीतक स्मोकिंग से कैंसर से लेकर अन्य प्रकार की बीमारियां की खबरें आम हैं लेकिन अब मंत्रालय ने बयान जारी कर स्मोकिंग करने वालों को कोरोना की चपेट में जल्दी आने की आशंका जताई है।मंत्रालय के अनुसार, स्मोकिंग करने वाले लोगों का कोरोना से संक्रमित होने की आशंका ज्यादा रहती है क्योंकि स्मोकिंग के कारण कोविड-19 वायरस हाथ के जरिए मुंह में जा सकता है और स्मोकिंग करने वाला शख्स इससे प्रभावित हो जाता है। बता दें कि 32 देशों के 150 से ज्यादा वैज्ञानिकों ने दावा भी किया था कि कोरोना का संक्रमण हवा के जरिए भी हो रहा है। बाद में ङ्ख॥ह्र ने इसकी पुष्टि करते हुए कोरोना वायरस संक्रमण फैलने के माध्यम में हवा को भी शामिल किया है।
विश्व स्वास्थ्य संगठन की गाइडलाइन में इस बात की आशंका जताई है कि कुछ विशेष स्थानों पर कोरोना वायरस का संक्रमण हवा के जरिए फैल सकता है। इसमें भीड़ वाली जगह में एरोसोल ट्रांसमिशन के साथ-साथ रेस्टोरेंट और फिटनेस क्लासेस में भी हवा के जरिए कोरोना वायरस फैलने की बात कही गई है। इस बात की भी आशंका जताई गई है कि किसी बंद जगह पर लंबे समय तक संक्रमित व्यक्ति के रहने के कारण भी कोरोना वायरस का संक्रमण उस जगह पर हवा के जरिए फैल सकता है।