बीकानेर। फोर्टिस डी.टी.एम अस्पताल के ह्रदय रोग विशेषज्ञ डॉ. बी.एल. स्वामी ने छ: महीने के छोटे बच्चे के फेफड़े के सिकुड़े हुये वाल्व को बिना चीरफाड़ बैलुन से फुलाकर (बैलुन पल्मोनरी वाल्वोटॉमी) ठीक किया है। जिसमें बच्चे का ऑक्सीजन 93 प्रतिशत से अब 100 प्रतिशत हो गया हैै। बच्चे के दिल में ए.एस.डी नाम का छेद भी है,जिसे 05 साल की आयु बाद में बन्द किया जाएगा।यह बिना चीरफाड़ का ऑपरेशन बीकानेर संभाग में पहली बार सफलता पूर्वक हुआ है। ज्ञात रहे फोर्टिस डी.टी.एम अस्पताल में अंतराष्ट्रीय स्तर की कैथलेब होने से अब बीकानेर में ह्रदय रोगों की जटिल से जटिल व्याघियों का उपचार संभव हो रहा है।