>


(बीकानेर)। बीकानेर के नोखा में एक घर में बुधवार को सिलेंडर में आग लग गई। आग पर एक घंटे में काबू पाया जा सका। तब तक सिलेंडर धधकता ही रहा, गनीमत रही कि वह फटा नहीं। एक घंटे बाद दमकल ने आकर आग बुझाई। प्राप्त जानकारी के नोखा कस्बे में राणेराव कॉलोनी के पास निरमा विश्नोई अपने घर में चाय बनाने के लिए किचन में गई थी। जैसे ही उसने चाय बनाने के लिए चूल्हा जलाया सिलेंडर ने आग पकड़ ली। आग तेजी से फैली।
सिलेंडर को बोरी से उठाकर लाई
निरमा भागकर घर के बाहर से बजरी ले आई और सिलेंडर पर डालकर आग बुझाने लगी। हादसे के समय निरमा घर में अकेली थी। वह बाहर से बजरी लाकर आग बुझाती रही। करीब 15-20 मिनट तक वह ऐसा करती रही। आग काबू नहीं आने पर निरमा ने एक बोरी में सिलेंडर को उठा लिया और उसे बाहर ले आई। बाहर लाकर उसने आस-पास के लोगों को आवाज देकर बुलाया। लोगों ने पानी डालकर आग बुझानी चाही तो भी नहीं बुझी। तब तक लोग दमकल को बुला चुके थे। करीब एक घंटे बाद नगरपालिका की दमकल आई और आग बुझाई। तब जाकर लोगों ने राहत की सांस ली।