श्रीडूंगरगढ़ नगरपालिका में भ्रष्टाचार का ऑडियो वायरल
बीकानेर। पिछले कुछ दिनों से क्षेत्र में चल रहे श्रीडूंगरगढ़ नगरपालिका में भ्रष्टाचार के आरोपों के दौर में नगरपालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि एवं नगरपालिका के अकाऊंटेंट के मध्य हुई बातचीत का एक ओडियो वायरल हुआ होने से क्षेत्र की राजनीति में भुचाल आ गया है। श्रीडूंगरगढ़ में मास्टर प्लान सर्वे के नाम पर किए गए करीब 60 लाख रुपए के भुगतान प्रकरण में वायलर हुए इस आडियो में नगरपालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि नारायण मोट स्वंय को कुछ नहीं मिलने, पूर्व विधायक किशनाराम नाई के पौत्र आशीष जाडीवाल (सोनू) पर चार लाख रुपए लेने के बाद भी इस प्रकरण में परेशान करने, अकाऊंटेंट पुनमचंद ने खुद के पास 3.5 लाख रुपए आने व 3 लाख बकाया होने, ईओ द्वारा नेता प्रतिपक्ष प्रतिनिधि राधेश्याम सारस्वत के साथ मिल कर गबन करने का प्रयास करने जैसी बातें की है। ऑडियो में आशीष जाडीवाल एवं ईओ भवानीशंकर उपाध्याय के खिलाफ अपशब्दों का प्रयोग भी किया गया है एवं एकाउंटटेंट द्वारा प्रकरण उछलने के बाद अब और भुगतान नहीं करने की सलाह भी पालिकाध्यक्ष को दी गई है। श्रीडूंगरगढ़ टाईम्स इस ऑडियो की पुष्टि नहीं करता है लेकिन क्षेत्र में चल रहे वाटसएप एवं सोशल मिडिया में यह ऑडियो श्रीडूंगरगढ़ नगरपालिका में कुछ ना कुछ गडबड चलने का संकेत जरूर दे रहा है। इस गड़बड़ की चर्चा पूरे क्षेत्र में चल ही रही थी की यह ऑडियो बाहर आ गया। आज हर तरफ कस्बेवासियों में यह वायरल हो रहा है साथ ही मुद्दा उठ रहा है कि एक अंकाउटेंड को 6.5 लाख मिल रहे है तो बाकी नगरपालिका अफसरों को कितना मिल रहा होगा। लोग आज सवाल कर रहे है कि ये काम करते भी है या केवल घोटाले करने को सरकार ने इन्हें बिठाया है। यह ऑडियो करीब तीन माह पूर्व का होने एवं गत 20 दिन पहले स्वंय नगरपालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि द्वारा अपने ऊपर लगाए जा रहे आरोपों से बचाव के लिए पार्षदों को भेजे जाने की सुचना मिली है। हम वीडियों की सत्यता की बात नहीं कहते है।