>


बीकानेर। ऑर्म्ड फोर्सेज मेडिकल कॉलेज पुणे (एएफएमसी) में दाखिले के लिए हुई अंतिम परीक्षा में सिंथेसिस के जितेन्द्र कड़वासरा ने ऑल इंडिया 49वीं रैंक हासिल कि है। संस्थान के निदेशक डॉ. श्वेत गोस्वामी ने अनुसार यह मेडिकल कोलेज भारत में नंबर तीन रैकिंग पर है। एएफएमसी की 145 सीटों पर दाखिले के लिए यह परीक्षा आयोजित करवाई गई थी। जिसमें करीब 1700 स्टूडेंट्स को अंतिम परीक्षा के लिये  बुलाया गया था। निर्धारित 145 सीटों में 115 छात्र और 30 छात्राओं के लिए आरक्षित है।

जितेन्द्र ने बताया कि सोशल मीडिया से छात्र जीवन में दूर रहना चाहिए। वह वर्तमान में समय बर्बादी का सबसे बड़ा कारण बन रहा है। इन्होंने बताया कि वह रोजाना सात-आठ घंटे पढ़ाई करता था। उसकी शुरू से इच्छा थी कि वह डॉक्टर बनें। इस सफलता के पीछे वह आर्मी से सेवानिवृति पिता गोविन्दराम कड़वासरा और माता मांगा देवी, सिंथेसिस संस्थान एवं अपने परिवार को देता है। कड़वासरा ने बताया कि उसकी दो बहिनें उर्मिला और विनीता ने भी उसे समय-समय पर आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया और कहा की सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता।