>


खुलासा न्यूज़, बीकानेर। जिले में करोड़ों के घोटाले की ख़बर सामने आई है। इस मामले को लेकर आईसीआईसीआई बैंक मैनेजर के खिलाफ बैंक को करोड़ों की चपत लगाने का मुकदमा सदर थाने में दर्ज करवाया गया है।  जानकारी के अनुसार बैंक मैनेजर के साथ मिलीभगत कर वेयर हाऊस मालिक व आढ़त फर्मों द्वारा आईसीआईसीआई बैंक को करोड़ों की चपत लगाने का सनसनीखेज मामला है। घोटाले का पता चलते ही बैंक के क्षेत्रीय प्रबंधक भालिंदर सिंह ने सदर थाने में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज करवाया है। मुकदमा जैन ट्रेडिंग कंपनी बज्जू, सांवरिया एग्रो सर्विसेज बीकानेर, गौरीशंकर एण्ड कंपनी, ओसवाल ब्रदर्स बज्जू व बैंक के फंडिंग मैनेजर अमित शर्मा के खिलाफ दर्ज करवाया गया है।
दर्ज मामले के अनुसार सांवरिया एग्रो वेयर हाऊस के मालिक महेश रांकावत ने अपने गोदाम में रखी गई मूंगफली की डब्ल्यूआर यानी वेयर हाऊस रिसीप्ट पर बैंक से बंधक ऋण उठाया तथा मैनेजर की मिलीभगत से आवेदन कर्ता के खाते की जगह दूसरे खातों में पैसे ट्रांसफर करवाए। इस पूरे प्रकरण में बैंक मैनेजर अमित शर्मा की मुख्य भूमिका बताई जा रही है जो बैंक को अपने लाभ के लिए गलत दस्तावेज वेरिफाई करके देता था।

पूरा घोटाला दो करोड़ इक्यानवे लाख और कुछ रूपयों का
बताया जा रहा है कि अनिल ट्रेडिंग कंपनी, जैन ट्रेडिंग कंपनी, के एन इंडस्ट्रीज/सांवरिया एग्रो, आर के इंडस्ट्रीज, एसएच फूड एग्रो प्रॉडक्ट्स व गौरीशंकर एंड कंपनी के खातों में लोन की राशि अवैध रूप से जमा करवाई गई। घोटाले में मूल आवेदनकर्ता की जगह इन खातों में अवैध रूप से लोन की राशि जमा करवाई गई। पूरा घोटाला दो करोड़ इक्यानवे लाख और कुछ रूपयों का बताया जा रहा है। बता दें कि सांवरिया एग्रो वेयर हाऊस है और इसका मालिक महेश रांकावत है वहीं गौरीशंकर एंड कंपनी का मालिक दिनेश कुमार व ओसवाल ब्रदर्स प्रवीण बैद की फर्म है।