>


बीकानेर। सीबीएसई द्वारा घोषित 12वीं विज्ञान वाणिज्य कला वर्ग के परिणाम में आरएसवी ने पुनः बीकानेर संभाग में अपनी श्रेष्ठता सिद्ध की है। आर एस पी ग्रुप ऑफ स्कूल के सीएमडी से सुभाष स्वामी ने बताया की वाणिज्य वर्ग में विद्यालय की छात्रा दिशा पारीक में 97% प्रतिशत अंक प्राप्त कर बीकानेर में प्रथम स्थान एवं विज्ञान वर्ग में देवेंद्र सिंह गिल ने 96%अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान प्राप्त किया है। विद्यालय के 52 विद्यार्थियों ने 90% से अधिक अंक प्राप्त किए हैं। कला वर्ग में विद्यालय के छात्र मोनार्क दत्त एवं छात्रा नेहा सोनी ने 98.2 प्रतिशत अंक प्राप्त कर बीकानेर में द्वितीय स्थान प्राप्त किया है। मोनार्क दत्त ने इतिहास में 100% दिशा पारिक एवं देविका राठी ने अर्थशास्त्र में 100% नेहा सोनी ए नेहा व्यास एवं मीनाक्षी राठौर ने फिजिकल एजुकेशन में 100%अंक साथ ही राम सिंह चारण में टाइपिंग एंड कंप्यूटर एप्लीकेशन में 100ः अंक प्राप्त कर विद्यालय का नाम गौरवान्वित किया है। विद्यालय विद्यालय के कुल 169 विद्यार्थियों ने 70% से अधिक अंक प्राप्त किए हैं। लगातार 17 वर्षों से विज्ञान एवं वाणिज्य वर्ग में श्रेष्ठ परिणाम देने वाले आर एस वी विद्यालय ने 18 वे वर्ष में वाणिज्य विज्ञान के साथ कला वर्ग में भी अपनी श्रेष्ठता सिद्ध की है इस वर्ष कला वर्ग में 16 विद्यार्थियों ने 90% से अधिक अंक प्राप्त किए हैं। विद्यालय में के विद्यार्थी अध्ययन में अपनी श्रेष्ठता के साथ साथ सह शैक्षणिक गतिविधियों एवं खेल स्पर्धाओं में भी राष्ट्रीय और राज्य स्तर पर सदैव विद्यालय का नाम गौरवान्वित करते रहे हैं। सुभाष स्वामी ने इस अवसर पर सफलता प्राप्त करने वाले समस्त विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य की कामना की एवं विद्यार्थियों के अभिभावकों को भी शुभकामनाएं प्रदान की। प्रधानाचार्य श्रीमती निधि ने दूरभाष पर 90%से अधिक अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों एवं उनके अभिभावकों से बात कर शुभकामनाएं प्रदान की।

छात्रा दिशा पारीक एम देवेंद्र सिंह गिल को उनके परिवार वालों ने मिठाई खिलाकर बधाइयां प्रदान की। छात्रा दिशा पारीक ने दूरभाष पर धन्यवाद ज्ञापित करते हुए अपनी सफलता के लिए विद्यालय के शिक्षकों के प्रयास एवं अपने माता पिता के आशीर्वाद को श्रेय दिया। मोनार्क दत्त ने अपनी सफलता हेतु विद्यालय के ऊर्जावान वातावरण शिक्षकों के पढ़ाने के विशिष्ट सहयोग एवं माता.पिता की प्रेरणा को अपनी सफलता का राज बताया। देवेंद्र सिंह गिल ने विद्यालय में करवाए जा रहे नियमित अध्ययन रिवीजन वर्क प्री बोर्ड परीक्षाओं एवं माता पिता के सहयोग को अपनी सफलता का श्रेय दिया। अधिकतर विद्यार्थियों ने इस परीक्षा में बिना ट्यूशन के विद्यालय स्तर पर ही प्रदान किए गए निर्देशों का पालन करते हुए इस सफलता को प्राप्त किया है।