>


विभाग के नियमों की उड़ा रहे धज्जियां
बीकानेर। सरकार चाहे कितने ही नियम कायदे बना दो। लेकिन उसकी क्रियान्विती कितनी हो रही है। इसकी मॉनिटरिंग नहीं होने से नियम तोडऩे वालों के हौसले बुलंद होते जा रहे है। कुछ ऐसा ही मुक्ताप्रसाद कॉलोनी स्थित रेयान स्कूल में देखने को मिल रहा है। जहां शिक्षा विभागीय कलेण्डर में ग्रीष्मावकाश के उपरान्त पर आज दिनांक तक स्कूल लग रही है। जबकि निजी व सरकारी स्कूलों में ग्रीष्मवकाश हुए पांच दिन से ज्यादा हो गए है। जो नियमों की खुलेआम अवहेलना है। जानकारी मिली है कि गुरूवार को रेयान में एक स्वयंसेवी संस्था ने कार्यक्रम आयोजित किया। जिसमें स्कूली गणवेश पहने बच्चों को पाळलिए बांटे गए। सो इस बात का पुष्टि करता है कि स्कूल का संचालन ग्रीष्माकालीन अवकाश के दौरान भी हो रहा है।
क्या हुए है आदेश
बताया जा रहा है कि तीन दिन पहले शिक्षा विभाग के उपनिदेशक ने एक आदेश निकालकर ग्रीष्मकाल के दौरान स्कूल न लगाने के निर्देश दिए। साथ ही शिक्षाधिकारियों को निर्देशित भी किया था कि अगर इस दौरान कोई निजी संचालक स्कूल खोलते है तो उनके खिलाफ कार्यवाही की जाएं। परन्तु उपनिदेशक के आदेशों की अवहेलना करते हुए रेहान इंटरनेशनल स्कूल आज तक बच्चों को नियमित रूप से स्कूल बुलाकर शैक्षणिक गतिविधियां कर रहा है।
ये है नियम
राज्य में संचालित बोर्ड व केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से संबद्वता रखने वाले स्कूल संचालक ग्रीष्मकाल अवधि के दौरान किसी प्रकार की शैक्षणिक गतिविधि नहीं कर सकते। इस दौरान स्कूल में बच्चों के अध्ययन संबंधित कोई गतिविधि नहीं की जा सकती। ऐसे कोताही बरतने वाले विद्यालयों के विरूद्व राजस्थान गैर सरक ारी शैक्षिक संस्था अधिनियम 1989 नियम 1993 के तहत कार्यवाही अमल में लाई जावें।