– पुलिस ने दोनों मामलों में विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर बयान लेकर जाँच शुरू
खुलासा न्यूज़, बीकानेर। खाजूवाला थाना क्षेत्र के एक गाँव में बुधवार देर रात्रि दो पक्षों में जमीनी विवाद और पानी की बारी लगाने के विवाद को लेकर आपस में भिड़ंत हो गई। देखते ही देखते दोनों पक्षों में विवाद इतना बढ़ा की तूं-तूं-मैं-मैं से शुरू हुआ मामला धारधार हथियार बरछीयों, कस्सी व लाठियों से हमले तक पहुंच गए। इस हमले में दोनों पक्षों के एक दर्जन के करीब महिला एवं पुरूष लहूलुहान के साथ गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस थाना खाजूवाला थानाधिकारी विक्रम चौहान खुद जाब्ते के साथ मौके पर पहुँचे और घायलों को सीएचसी खाजूवाला इलाज के लिए भिजवाया। इस संबंध में पुलिस थाना खाजूवाला में दोनों पक्षो की तरफ से परस्पर मुकदमे दर्ज हुए है।

यह है पूरा घटनाक्रम
एएसआई कँवरसिंह यादव ने बताया कि पहला मुकदमा जसादेवी बिश्नोई निवासी 2 एसएसएम सिसाडा प्रथम ने मुकदमा दर्ज करवाया। जिसमें उसने बताया कि मेरे पति रामस्वरूप के नाम से विरासतन भूमि चक 2 एसएसएम प्रथम में 15 बीघा जमीन हैं। जहां ढाणी बनाकर ही हमारा परिवार निवास करता हैं। 12 जून शाम को इसी खेत की पानी बारी थी इसलिए प्राथीयां व उसकी बेटी राधा अपनी डिग्गी को पानी से भरने के लिए खेत के खाले से पानी लेने के लिए गई। वहाँ पहले से मौजूद भंवरलाल, किशनाराम, मनफूल, प्रकाश, संतोष देवी निवासी 2 एसएसएम प्रथम सिसाडा ने कस्सी व लाठियों से लैस होकर हमला कर दिया व सिर से चन्नी उतारकर लज्जा भंग कर दी। वहीं दूसरा मुकदमा ओमप्रकाश बिश्नोई निवासी 2 एसएसएम सिसाडा प्रथम ने मामला दर्ज करवाया हैं। जिसमें उसने बताया कि 12 जून को खेत मे पानी की बारी के दौरान मेरा भाई मनफूल व चाचा किशनलाल नके पर खेत मे बारी के लिए पानी तोडऩे गए थे। वहां पर रामस्वरूप, भगवानाराम, जस्सी देवी, सुरेश व राधा ने बरछी, कस्सी व कस्सियाँ से जान से मारने की नीयत से हमला कर दिया। जिससे सभी के चोटे आने पर घायल हो गए जिनका सरकारी हॉस्पिटल से इलाज करवाया गया।