>



बीकानेर। चौदहवीं रंगीला स्मृति जिला स्तरीय शतरंज प्रतियोगिता के पहले दिन रविवार को अंडर-10 वर्ग में ऋषिराज दुग्गड़ ने अपने सभी मुकाबले जीतकर पहला स्थान प्राप्त किया। वहीं अंडर-14 में चार, अंडर-18 तीन और सीनियर वर्ग में छह शातिर संयुक्त बढ़त पर रहे।
प्रतियोगिता संयोजक एडवोकेट जुगल किशोर व्यास ने बताया कि अंडर-10 वर्ग में ऋषिराज दुग्गड़ ने चार मुकाबले जीतकर चार अंक हासिल किए। दुग्गड़ इस वर्ग के विजेता घोषित किए गए। वहीं रजत व्यास, पार्थ दाधीच और पार्थ बिस्सा ने तीन-तीन अंक हासिल किए। प्रोग्रेसिव गणना के आधार पर व्यास को दूसरा और दाधीच का तीसरा स्थान प्राप्त हुआ।
अंडर-14 वर्ग में माधव हर्ष, शुभम् व्यास, पार्थ जैन और राघव आचार्य पहले दिन के चार-चार मुकाबले जीतकर संयुक्त बढ़त पर रहे। अंडर-18 में अनिमेष पुरोहित, अभिषेक सोनी और गोपाल जोशी तथा सीनियर वर्ग में महावीर बिठू, आदित्य जैन, पंकज जैन, हर्षवद्र्धन स्वामी, राजेन्द्र सिंह शेखावत और कपिल पंवार संयुक्त बढ़त पर रहे। व्यास ने बताया कि प्रतियोगिता में 105 शातिर भाग ले रहे हैं। विजेताओं को 2 जनवरी को पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे।
इससे पहले सहायक निदेशक (कॉलेज शिक्षा) डॉ. राकेश हर्ष और अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी सुनील बोड़ा ने मोहरे चलाकर प्रतियोगिता का विधिवत आगाज किया। अतिथियों ने मानसिक और शारीरिक विकास में खेलों की भूमिका को महत्वपूर्ण बताया तथा सकारात्मक प्रतिस्पर्धा के साथ आगे बढऩे का आह्वान किया। उन्होंने खेल लेखन के क्षेत्र में रंगीला के योगदान को अविस्मरणीय बताया।
रंगीला फाउण्डेशन के अध्यक्ष एडवोकेट बसंत आचार्य ने फाउण्डेशन की गतिविधियों एवं प्रतियोगिता के नियमों के बारे में जानकारी दी। मधुसूदन व्यास ने आभार जताया। संचालन हरि शंकर आचार्य ने किया। आर्बिटर की भूमिका रामकुमार, डी.पी. छीपा और एस. एन. करनाणी ने निभाई। इस दौरान एडवोकेट भैंरूरतन व्यास, मोहित व्यास, रोहित व्यास, केशव आचार्य, विनीत आचार्य, एडवोकेट विकास छंगाणी, लखपत पीयूष, कन्हैयालाल आचार्य आदि मौजूद रहे। दूसरे दिन के मुकाबले प्रात: 10 बजे से होंगे।
—–