80 वें जन्मदिवस पर अनेक संगठनों ने किया अभिनंदन
बीकानेर। आरएसवी ग्रुप ऑफ स्कूूल्स के संस्थापक स्वामी रामनारायण जी ने 19 वर्ष की उम्र से शिक्षा की जो अलख जगाई उसी का ही परिणाम है कि आज बीकानेर के शिक्षा जगत में उनकी पहचान अविष्मरणीय है। उनके सादगी,शिष्टाचार व संस्कारवान शिक्षा के बल पर ही आरएसवी ग्रुप ऑफ स्कूल्स देश दुनिया में अपनी अनूठी पहचान बनाने में कामयाब हो सका है। ये उद्गार आरएसवी ग्रुप ऑफ स्कूल्स के संस्थापक स्वामी रामनारायण जी के 80 वें जन्मदिवस पर आयोजित अभिनंदन समारोह के दौरान वक्ताओं ने व्यक्त किये। लालेश्वर महादेव मंदिर के विमर्षानंद जी ने भी राम नारायण जी की विशेेषताओं पर प्रकाश डालते हुुए कहा कि तपस्वी के रूप मे अत्यंत धैर्यवान एवं अपने जीवन में संयम को सर्वाधिक महत्व देेन वाले रामनायण जी का व्यक्तित्व विशिष्ट है। इस मौके पर स्वामी को अनेक संस्थाओं व सामाजिक संगठनों की ओर से अभिनंदन किया गया। कार्यक्रम के दौरान स्वामी के पुत्र सुभाष स्वामी,पुत्रवधु निधि स्वामी सहित सभी परिजनों ने कविता के जरिये अपने भावों को प्रकट किया। आरएसवी ग्रुुप ऑॅफ स्कूूल्स के सीएमडी सुभाष स्वामी ने समस्त उपस्थित गणमान्य व्यक्तियों को धन्यवाद ज्ञापित किया एवं यज्ञ प्रशिक्षण शिविर को सफ ल बनाने में दो दिन से निरंंतर सहयोग प्रदान कर रहे स्वयंसेेवकों का भी आभार प्रकट किया।
इन संस्थाओं ने किया अभिनंदन
इंडस्टंीयल एरिया स्थित होटल पाणिग्रहण में आयोजित अभिनंदन कार्यक्रम में सर्वप्रथम ख्याति प्र्राप्त तपस्वी योग निष्ठ विद्वान अधिष्ठाता वनप्रस्थ साधक आश्रम अहमदाबाद गुजरात,आचार्य सत्यजीत जी ने राम नारायण जी के सम्मान में अभिनन्दन पत्र पढ़कर सुनाया तथा शॉल ओढ़ाकर उनका अभिनन्दन किया। जोधपुुर, बयाना, भीलवाड़़ा, अजमेर से पधारे आचार्यों नेे भी राम नारायण जी का अभिनन्दन किया। पर्यावरण पोषण यज्ञ समिति की ओर से ओम प्र्रकाश मोदी एवं योगेन्द्र कृष्ण नेे शॉॅल ओढ़ाकर एवं माला पहना कर अभिनन्दन किया। जिला उद्योग संंघ की ओर से श्रीधर शर्मा ने राम नारायण जी के सम्मान में प्र्रशंसा पत्र तथा श्रीफल एवं शॉल प्रदान कर अभिनन्दन किया। आरएसवी ग्रुप ऑफ स्कूल्स की ओर से अभिनन्दन पत्र का वाचन नीरज श्रीवास्तव ने किया। जबकि रविन्द्र भटनागर, मनमोहन मोदी, पूूनम चौधरी,बिन्दू बिश्नोई विक्रम सिंंह राजवी,रियाज मोहम्मद आदि ने माल्यापर्ण कर शॉल ओढाकर राम नारायण जी से आशीर्वाद प्राप्त किया। मुरादाबाद से पधारे श्री अश्विनी गौतम ने  भी राम नारायण जी को श्रीफल व शॉल ओढाकर अभिनन्दन किया। प्राईवेट स्कूूल एसोशियन पेपा की ओर से गिरिराज खैरीवाल व उनके सहयोगियों ने साफा एवं माला पहना कर उनका अभिनन्दन किया।
यज्ञ में दी आहुतियां,बताई यज्ञ की महता
क्रियात्मक यज्ञ प्रशिक्षण शिविर के दूसरे दिन भी प्रशिक्षणार्थियों ने बड़े उत्साह पूर्वक भाग लिया 1200 से अधिक प्रशिक्षणार्थियों ने यज्ञ प्रशिक्षण का लाभ उठाया। रोजड़ गुजरात से पधारे आचार्य सत्यजीत ने यज्ञ की महत्व की व्याख्या करते हुए यज्ञ के बारे में समाज मे फैैली भ्र्रांंतियों को दूूर किया। क्रियात्मक यज्ञ प्र्रशिक्षण शिविर के अंंतिम सत्र मे प्रशिक्षणार्थियों ने अपनी जिज्ञासाओं को शांत किया अपनेे मनोभावों को प्रकट किया। अंत में प्रशिक्षणार्थियों से एमडी सुभाष स्वामी नेे आग्रह किया गया कि वे यज्ञ के प्र्रति अपनी भावना को इसी प्र्रकार बनाएं रखे तथा पर्यावरण एवं जीव मात्र के कल्याण हेतु यज्ञ का नियमित रूप से आयोजन करे व प्रचार प्रसार करें।