>



जयपुर। राजस्थान में राज्यसभा चुनाव में 3 सीटों में से 2 पर कांग्रेस की जीत तय है। इन 2 सीटों के लिए कांग्रेस के दर्जनभर नेता दावेदारी जता रहे हैं। राज्यसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों के नामों को लेकर सीएम अशोक गहलोत कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिल चुके हैं। 2 दिन तक दिल्ली में मंथन के बाद सीएम गहलोत रविवार शाम को वापस जयपुर लौट चुके हैं। अब प्रत्याशी के नाम का फैसला हाईकमान के स्तर पर होना है।
तारिक अनवर का नाम भी अब चर्चा में आया
होली के बाद 11 या 12 मार्च को उम्मीदवारों के नामों की घोषणा होने की संभावना है. कांग्रेस में राज्यसभा के टिकट के लिए कई नामों की चर्चा है। इनमें एनसीपी से कांग्रेस में शामिल हुए तारिक अनवर का नाम भी अब चर्चा में आया है। इसके अलावा डूंगरपुर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष दिनेश खोड़निया, पूर्व केन्द्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह, गौरव वल्लभ, पूर्व नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी, पूर्व सांसद रघुवीर मीणा, जुबेर खान, पूर्व मंत्री दुर्रु मियां, पूर्व सांसद अश्क अली टाक, पूर्व कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष डॉ. चंद्रभान और कांग्रेस नेता राजीव अरोड़ा के नाम दावेदारों में शामिल हैं।
दावेदारों की धड़कनें बढ़ी हुई हैं
फिलहाल राज्यसभा चुनाव के लिए पुख्ता नामों पर फैसला होना बाकी है। उम्मीदवारों की घोषणा तक कयासों का दौर और नित नए नामों को लेकर समीकरण बनते और बिगड़ते रहेंगे। सीएम गहलोत की कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद दावेदारों की धड़कनें जरुर बढ़ी हुई हैं। दावेदारों ने इसके लिए पूरा जोर लगा रखा है। जयपुर से लेकर दिल्ली तक नेताओं की दौड़धूप जारी है।
26 मार्च को सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक वोटिंग होगी
उल्लेखनीय है कि राज्यसभा सांसद के लिए राजस्थान की तीन सीटों पर आगामी 26 मार्च को चुनाव होने हैं। इसके लिए 13 मार्च तक प्रत्याशी नामांकन-पत्र दाखिल कर सकेंगे। उसके बाद 16 मार्च को इन नामांकन-पत्रों की जांच होगी। 18 मार्च तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। 26 मार्च को सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक वोटिंग होगी।