>



बीकानेर। अगले माह पेश किये जाने वाले बजट में केन्द्र सरकार की ओर से औद्योगिक संघों के सुझाव के तहत जिला उद्योग संघ के अध्यक्ष द्वारकाप्रसाद पचीसिया, अनंतवीर जैन एवं नरेश मित्तल ने आगामी केन्द्रीय बजट के लिये सुझाव वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को भिजवाए। सुझाव में बताया गया कि टेक्स की छूट सीमा 3 लाख रूपये तक की जाए। इनकम टेक्स स्लेब 3 लाख से 5 लाख तक टेक्स की दर 5 प्रतिशत, 5 लाख से एक से लेकर 10 लाख तक 10 प्रतिशत, 10 लाख एक से लेकर 20 लाख तक 20 प्रतिशत तथा 20 लाख एक से ऊपर तक 25 प्रतिशत की दर होनी चाहिए। वरिष्ठ नागरिकों के लिए मूल छूट सीमा को बढाकर 5 लाख रूपये तक किया जाना चाहिए। धारा 50 (सी) के तहत सम्पतियों में भारी गिरावट देखते हुए हर साल 10 प्रतिशत डीएलसी दर बढाना सही नहीं है। 80 सी में वर्तमान सीमा को डेढ़ लाख से बढाकर 3 लाख किया जाना चाहिए। 80 डी की सीमा 50 हजार रूपये तक बढ़ानी जानी चाहिए। धारा 64 में संसोधन करते हुए नाबालिगों के क्लबिंग प्रावधानों को हटाना चाहिए। टीडीएस भुगतान की सीमा में परिवर्तन होना चाहिए। टीडीएस की अधिकतम दर को 10 प्रतिशत से घटाकर 5 प्रतिशत किया जाना चाहिए और साथ ही टीडीएस की व्यक्तिगत और एचयुएफ दर के अलावा अन्य ठेकेदारों के मामले में 2 प्रतिशत से 1 प्रतिशत किया जाना चाहिए। वरिष्ठ नागरिक करदाताओं को सामाजिक एवं आर्थिक रूप से सुरक्षित करते हुए मामूली प्रीमियम पर 10 लाख रूपये तक का चिकि त्सकीय बीमा मिलना चाहिए।