खुलासा न्यूज़, बीकानेर। शहर में पिछले तीन वर्षों में बीकानेर इलेक्ट्रिक सप्लाई लिमिटेड कंपनी ने बेहतर काम करते हुए उपभोक्ताओं को  24 घंटे बिजली मुहैया करवाई है। यहीं नहीं कंपनी ने शहरवासियों की बिजली की समस्या का  निस्तारण कर  उन्हें राहत प्रदान की है।पत्रकारों से रूबरू होते हुए कंपनी सीसीओ शांतनु भट्टाचार्य  ने  बताया कि कंपनी ने शहरवासियों को बार बार बिजली कटौती से निजात तो दिलाई ही है। इसके  अलावा बिजली खराब होने  पर हाथों हाथ बिजली सुचारू होने की व्यवस्था भी करवाकर उपभोक्ता ओं का विश्वास जीता है। चटर्जी ने माना कि कुछ समस्याएं का हल अभी तक नहीं हो पाया है। परन्तु  ये समस्याएं भी कंपनी की ओर से  जल्दी से जल्दी निस्तारित कर दी जाएगी। मीटरों की तेज गति  और बढ़ते बिजली के बिलों पर पूछे गये प्रश्न का जबाब देते हुए भट्टाचार्य  ने कहा कि कंपनी की  ओर से उन्हीं मीटरों में बदला गया है। जो पुराने हो चुके है या भारत सरकार की विद्युत नीति में नहीं  आते है। रही बात तेज गति से चलने वाले मीटरों की, अब तक कंपनी के पास ऐसी कोई शिकायतें  नहीं आई है। फिर भी उपभोक्ताओं को ऐसी शिकायतें है तो वे तुरन्त कंपनी के सेवा केन्द्र पर जाकर  अपनी शिकातय की सन्तुष्टि कर सकते है। भट्टाचार्य ने साफ किया कि अगर किसी भी अधिकारी-क र्मचारी द्वारा भ्रष्टाचार में लिप्त होना पाया जाता है तो कंपनी उसको तत्काल प्रभाव से नौकरी से निकाल  देगी।

बीकानेर में नहीं लगाएं जाएंगे स्मार्ट मीटर
भट्टाचार्य  ने कहा कि बीकानेर में स्मार्ट मीटर न तो लगाएं जा रहे है और न ही भविष्य में लगाएं जाए ंगे। कंपनी की ओर से जो मीटर लगाएं जा रहे है वो राजस्थान की दो कंपनियों की ओर बनाएं जाने  वाले ही मीटर है न की कंपनी की ओर से खुद के तैयार मीटर। अगर कोई इसकी पुष्टि करना चाहता है  तो वो कर सकता है।

पार्षद के साथ सौहार्दपूर्ण व्यवहार
पार्षदों के साथ हमारा व्यवहार सौहार्दपूर्ण है,पहले भी हमने पार्षदों के साथ समन्वित भाव के साथ क ाम किया है और आगे भी हम उनसे सौहार्दपूर्ण तरीके से मेलजोल बैठाकर काम करेंगे।  निर्दलीय  पार्षद नंदकिशोर गहलोत के साथ जो हुआ वह दुर्भाग्यपूर्ण था। कंपनी की कभी मंशा नहीं रहती कि  किसी उपभोक्ता के साथ गलत हो।
कुछ इलाकों में नहीं रोक पाएं चोरी
भट्टाचार्य ने कहा कि कंपनी ने काफी हद तक चोरी रोकने का प्रयास किया है,लेकिन शहर के कुछ  इलाकों में चोरी रोक पाना कंपनी के लिये भी टेढ़ी खीर बना हुआ है। इनमें रिडमलसर,भुट्टों का  चौराहा क्षेत्र,कसाईबारी,कुचीलपुरा सहित चार पांच जगह शामिल में है।
पिछले तीन वर्षो की ये है उपलब्धि
1. बीकानेर उपभोक्ताओं को औसत बिजली की उपलब्धता: 23 घंटे48मिनट
2.  शिकायत के लिए औसत बहाली (रेस्टोरेशन) का समय 16   मिनट
3.  शिकायत के लिए औसत बहाली (रेस्टोरेशन) का समय 35   मिनट
4. दोषपूर्ण वितरण ट्रांसफार्मर का औसत प्रति स्थापन समय 3 घंटे 7 मिनट
5.बीकेईसीएल में ेंकिया गया पूंजीगत व्यय  मई 2017 से अब तक 86.4 करोड़
6.बिजली कनेक्शन का 90 प्रतिशत 3 कार्य दिवस के भीतर दिया जाता है।
7.  खऱाब मीटर1 माह के अंतर्गत बदल दिया जाता है।
8. बीकानेर शहर में राज्य सरकार की ओर से जारी एमनेस्टी वअन्य योजनाएं तत्काल प्रभाव से लागू  की जातीहै।
9. उपभोक्ताओं की शिकायतों के निराकरण के लिए कंपनी ने तंत्र विकसित किया हुआ है जहाँ  उपभोक्ता अपनी शिकायतें दजऱ् करा सकते हैं।
10. बिजली फाल्ट के निराकरण के किय कंपनी ने 24 घंटे टीम तैनात कर रखी है।
11. जोधपुर डिस्कॉम ने अपने स्तर पर स्वतंत्र रूप से कंपनी के लगाए 300 से अधिक मीटरों की जा ंच की। जिसमें सभी मीटर सही पाए गए है। डिस्कॉम की मीटर जांच प्रक्रिया जारी है।
12. मीटर बदलने में कंपनी केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण के दिशा – निर्देशों की पूरी तरह से पालना कर  रहीहै।